पाकिस्तान के पूर्व पीएम अब्बासी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

0

पाकिस्तान की एक अदालत ने पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। शाहिद पर आरोप है कि उन्होंने भ्रष्टाचार मामले में दोषी पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ सुरक्षा बैठक का महत्वपूर्ण ब्योरा साझा किया था। गौरतलब है कि नवाज शरीफ ने मई में स्वीकार किया था कि मुंबई में हुए खतरनाक आतंकी हमले में पाकिस्तान का हाथ था। शरीफ के इस बयान के बाद पाकिस्तान में सेना और सरकार के बीच काफी विवाद हो गया था, जिसके बाद शाहिद अब्बासी ने अपनी अध्यक्षता में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की एक बैठक बुलाई थी।

अदालत में याचिका दायर करने वालों ने आरोप लगाया है कि राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक के बाद अब्बासी ने बैठक में हुई महत्वपूर्ण जानकारी शरीफ के साथ साझा की। याचिकाकर्ताओं का कहना है कि शाहिद खाकान अब्बासी ने शरीफ को इस बात की जानकारी देकर प्रधानमंत्री के रूप में ली गई अपनी शपथ का उल्लंघन किया और सुरक्षा प्रतिष्ठानों का मज़ाक उड़ाया है। वहीं याचिका में शरीफ पर भी राजद्रोह की धाराओं में कार्रवाई की मांग की है।

लाहौर हाईकोर्ट ने शाहिद खाकान अब्बासी के साथ उस पत्रकार के खिलाफ भी गिरफ्तारी वारंट जारी किया, जिसने नवाज शरीफ का इंटरव्यू लिया था। अदालत के एक अधिकारी ने कहा कि लाहौर हाईकोर्ट ने अब्बासी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। कोर्ट ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे नवाज़ शरीफ को रावलपिंडी के अदियाला अदालत जेल में जेलर के माध्यम से और डॉन के रिपोर्टर को वरिष्ठ अधीक्षक इस्लामाबाद के माध्यम से नोटिस भेजा जाए।

बता दें कि अदालत ने पनामा पेपर्स कांड से जुड़े भ्रष्टाचार के तीन मामलों में से एक में नवाज शरीफ को दोषी करार देते हुए 10 वर्ष की सज़ा सुनाई और उनकी बेटी मरियम को 7 वर्ष की सज़ा सुनाई थी। इसके अलावा मरियम के पति मोहम्मद सफ़दर को एक साल की सज़ा सुनाई गई है। तीनों को फिलहाल आदियाला जेल में रखा गया है।

Share.