भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रदर्शन हुआ जानलेवा

0

भारत में भ्रष्टाचार अपनी साख मजबूत कर चुका है| देश भ्रष्टाचार से संबंधित कोई न कोई मुद्दा हमेशा ही उठता रहता है| भारत के साथ ही दुनिया के अन्य देश भी भ्रष्टाचार जैसी गंभीर समस्या से परेशान हैं| फिलहाल वेनेजुएला में भ्रष्टाचार को लेकर हिंसक जंग जारी है| वेनेजुएला के हैती में एक परियोजना में गबन को लेकर जमकर विरोध किया जा रहा है|  विरोध प्रदर्शन के दौरान छह लोगों की मौत हो गई और पांच अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए| इस परियोजना के तहत लोगों को तेल की कीमत में सब्सिडी प्रदान की जाती है| राष्ट्रपति जोवेनल मोइस ने विपक्षी समूहों से बातचीत की अपील की है, जो भ्रष्टाचार की जांच में विफल रहने पर उनके इस्तीफे की मांग कर रहे हैं|

पेट्रोकारिबे परियोजना’  पर आए 3.8 अरब डॉलर के खर्च की जांच की मांग करते हुए रविवार को हजारों लोगों ने राजधानी में ‘नेशनल पैलेस’ की ओर मार्च किया| प्रदर्शनकारियों की सड़कों को जाम करने और टायरों में आग लगाने के बाद पुलिस और प्रदर्शनकारियों में झड़प हुई|

हैती की सीनेट ने अपनी जांच में आरोप लगाया है कि पूर्व राष्ट्रपति मिशेल मार्टिल के प्रशासन के कम से कम 14 पूर्व अधिकारी गबन में शामिल थे, लेकिन किसी को भी आरोपित नहीं किया गया है| देशभर में छोटे स्तर पर किए प्रदर्शन में झड़प होने की भी खबरें हैं|

भारत में भी बढ़ रहा भ्रष्टाचार

भ्रष्टाचार को लेकर भारत के सरकारी क्षेत्र की छवि दुनिया की निगाह में अब भी खराब है| अंतरराष्ट्रीय गैर सरकारी संगठन ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की ताजा रिपोर्ट ग्लोबल करप्शन इंडेक्स-2017 में भारत को 81वें स्थान पर रखा गया है| भारत के पड़ोसी देशों की बात की जाए तो इस सूची में पाकिस्तान को 117वें, बांग्लादेश को 143वें, म्यांमार को 130वें तथा श्रीलंका को 91वें स्थान पर रखा गया है|

Share.