योगी राज में मन्दिर में हुआ बलात्कार, महंत फरार

0

योगी आदित्यनाथ के राज में उत्तर प्रदेश की महिलाओं की आबरू कितनी महफुज है इसका ताज़ा उदाहरण बदायूं के उघैती क्षेत्र में एक महिला के साथ मन्दिर में हुआ सामूहिक बलात्कार और दरिंदगी के बाद हत्या का मामला है. बाद मेंपुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि महन्त फरार है.

वहीं लापरवाही बरतने के आरोप में थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है.वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने बताया कि उघैती क्षेत्रान्तर्गत एक 50 वर्षीय महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु के सन्दर्भ में धारा 376डी/302 भादवि के अन्तर्गत मुकदमा कायम किया गया था. इस क्रम में प्रारम्भिक जाँच में लापरवाही में दोषी पाये जाने पर तत्कालीन थाना प्रभारी को निलम्बित किया जा रहा है.

श्री शर्मा ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में महिला के पैर में फ्रैक्चर एवं प्राइवेट पार्ट पर चोट के निशान पाए गए हैं .उन्होंने बताया कि दो आरोपियों वेद राम और जसपाल को रात में ही गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि फरार आरोपी मंदिर के महंत को गिरफ्तार करने के लिए चार टीमें गठित की गई है बहुत जल्द ही मंदिर के महंत महंत को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा .

पुलिस सूत्रों ने बुधवार को बताया कि तीन जनवरी की शाम महिला मंदिर में पूजा अर्चना करने गयी थी जहां उसके साथ मंदिर के मंहत समेत तीन लोगों ने बलात्कार किया और बाद में उसकी हत्या कर दी.पुलिस के अनुसार महिला के सीने और पांव में भारी वस्तु से प्रहार किये गये जबकि उसके गुप्तांग में चोट पहुंचायी गयी.परिजनों ने मंदिर के महंत पर बलात्कार और हत्या का आरोप लगाया है.महिला के पुत्र के मुताबिक तीन जनवरी की रात तकरीबन 11 बजे मंदिर का महंत अन्य दो लोगों के साथ घर आया और माँ का शव घर मे रख दिया. उनसे कुछ पूछ पाते कि वे लोग यह कहकर चले गए कि मन्दिर से घर लौटते समय महिला रास्ते में स्थित एक सूखे कुएं में गिर गई थी.जब मामले की जानकारी पुलिस को दी गई तो इन सबके बाद पुलिस ने भी लापरवाही बरतते हुए मुक़द्दमा लिखने,पंचनामा भरने में काफी वक्त लगाया. रविवार रात की घटना में पोस्टमार्टम मंगलवार को हुआ. मंगलवार शाम पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि हुई है.

Share.