यूपी में भाजपा को चाहिए स्मार्ट कार्यकर्ता…ये है पैमाना

0

उत्तरप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की चुनावी तैयारियां तेज़ हो गई हैं। यूपी में भाजपा कोई रिस्क नहीं लेना चाहती, ऐसे में भाजपा को कार्यकर्ता भी स्मार्ट चाहिए। यूपी में भाजपा  को ऐसे स्मार्ट कार्यकर्ताओं का तलाश है, जिनके हाथ में स्मार्ट फोन और चलने के लिए बाइक हो।

प्रदेश भाजपा ईकाई ने सभी जिलाध्यक्षों से ऐसे कार्यकर्ताओं की लिस्ट मांगी है। दरअसल, भाजपा स्मार्ट कार्यकर्ताओं के साहारे जनता के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपलब्धियों को पहुंचाएगी। साथ ही जनता के फीडबैक से पार्टी को अवगत कराएगी।

उत्तरप्रदेश में स्मार्ट कार्यकर्ताओं की तलाश में जुटी भाजपा ने अलग-अलग चयन प्रक्रिया के माध्यम से कार्यकर्ताओं का चयन शुरू कर दिया है| जल्द ही हाथों में स्मार्ट मोबाइल फोन और बाइक पर सवार भाजपा कार्यकर्ता जनता के बीच होंगे।

ये कार्यकर्ता जनता से मिलेंगे और अपनी सरकार की योजनाओं के बारें में जनता को बताएंगे। यह सबकुछ होगा उसी स्मार्ट मोबाइल फोन के जरीए, जिसकी अनिवार्यता पार्टी ने तय की है। दरअसल, भाजपा के सभी जिलाध्यक्षों से जो रिपोर्ट पार्टी ने मांगी है, उसमें इस बात का जिक्र भी है।

पार्टी ने जिलाध्यक्षों से 15 सवाल पूछे हैं। उसके तहत यह जानकारी मांगी गई है कि बूथ पर स्मार्टफोन वाले कार्यकर्ताओं की सूची बनी है कि नहीं। अगर बनी है तो इसकी संख्या कितनी है? कितने मंडलों पर मोटरसाइकिल वाले कार्यकर्ताओं की सूची बन गई है? 15 सवालों वाले इस पत्र में स्मार्ट कार्यकर्ताओं की तलाश बेहद खास है, लेकिन इसके पीछे का मकसद उत्तप्रदेश में लोकसभा चुनाव में जीत है?

प्रदेश भाजपा प्रवक्ता डॉ. चंद्रमोहन कहते हैं, “जब जमाना डिडिटल हो रहा है तो कार्यकर्ताओं को भी स्मार्ट होना चाहिए। साथ ही स्मार्ट फोन और बाइक की मदद से कार्यकर्ता आम जानता के बीचे आसानी से पहुंच बना सकेंगे। पार्टी के कार्यकर्ता भी मानते है कि जमाना सोशल मीडिया का है। ऐसे में समार्ट फोन जरुरी है।”

Share.