मंत्री लालसिंह आर्य का औचक निरीक्षण

0

विक्रम विश्वविद्यालय के छात्रावास में आदिम जाति कल्याण विभाग के मंत्री लालसिंह आर्य ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कई खामियां देखकर मंत्री आर्य भड़क गए और छात्रावास के पूर्व अधीक्षक पवन मिश्रा को सस्पेंड कर दिया। साथ ही वर्तमान अधीक्षक अशोक मालवीय का इन्क्रीमेंट भी रोक दिया।

मिल रही थी शिकायतें 

मंत्री लालसिंह आर्य को विक्रम विश्वविद्यालय के आदिम जाति पोस्ट मेट्रिक छात्रावास की कई दिनों से शिकायतें मिल रही थीं, मंत्री आर्य जैसे ही उज्जैन पहुंचे तो अपना महत्वपूर्ण कार्य पूरा करने के बाद अचानक छात्रावास पहुंच गए।

जली रोटी और दाल

जायजा लेने के दौरान आर्य जब छात्रों के रूम में पहुंचे तो छात्रों ने मंत्री को दाल और जली हुई रोटियां दिखाई। मंत्री लालसिंह ने छात्रों की शिकायत पर वहां के वार्डन से जब नाश्ते के बारे में पूछा तो कोई जवाब नहीं मिला, जिस पर आर्य ने रोज़ाना रोटी, दाल-चावल और सब्जी के साथ सुबह का नाश्ता देने की बात कही। उन्होंने छात्रावास में किसी भी तरह के पोस्टर बैनर लगाने पर रोक लगाने के निर्देश दिए।

छात्रा कई बार जता चुके हैं पीड़ा

कुछ दिन पहले ही छात्रावास के छात्रों सुविधा नहीं मिलने से नाराज़ होकर हंगामा किया था, उन्होंने कुछ देर के लिए अधीक्षक पवन मिश्रा को बंधक बना लिया था। इसके बाद पवन मिश्रा का तत्कालीन तबदला कर दिया गया था। इसके बाद वर्तमान में अधीक्षक अशोक मालवीय के रहते हुए भी आर्य को कई खामिया मिली, तो उन्होंने कार्रवाई करते हुए छात्रावास के पूर्व अधीक्षक पवन मिश्रा को सस्पेंड और वर्तमान अधीक्षक अशोक मालवीय का इंक्रीमेंट रोकने के आदेश दे दिए।

Share.