आज लोकसभा में ट्रिपल तलाक पर हंगामा होगा !

0

तीन तलाक (तलाक-ए-बिद्दत) (triple talaq bill) की प्रथा पर रोक लगाने से जुड़ा नया विधेयक आज लोकसभा (lok sabha ) में सरकार पेश करने जा रही है| केंद्र सरकार मुस्लिम समाज में एक बार जारी इस रीती के खिलाफ विधेयक लाने की कोशिश में लगी है| लोकसभा से जुड़ी कार्यवाही की आज की सूची के मुताबिक ‘मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक-2019’ लोकसभा में शुक्रवार को पेश किया जाना है|

पिछले महीने 16वीं लोकसभा का कार्यकाल पूरा होने के बाद पिछला विधेयक निष्प्रभावी हो गया था क्योंकि यह राज्यसभा में लंबित था| लोकसभा में किसी विधेयक के पारित हो जाने और राज्यसभा में उसके लंबित रहने की स्थिति में निचले सदन (लोकसभा) के भंग होने पर वह विधेयक निष्प्रभावी मान को पुनः पारित करवाना होता है|

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस और विश्व संगीत दिवस विशेष


सरकार ने सितंबर 2018 और फरवरी 2019 में दो बार तीन तलाक अध्यादेश जारी किया था| इसका कारण यह है कि लोकसभा में इस विवादास्पद विधेयक के पारित होने के बाद वह राज्यसभा में लंबित रहा था| बता दें कि मुस्लिम महिला (विवाह पर अधिकारों का संरक्षण) अध्यादेश, 2019 के तहत तीन तलाक के तहत तलाक अवैध, अमान्य है और पति को इसके लिए तीन साल तक की कैद की सजा हो सकती है| कई मुस्लिम संगठन और नेता इस पर सकरकर का विरोध कर चुके है वहीँ विपक्ष इसकी कुसंगतियों के हवाले से इसका विरोध करता रहा है| ऐसे में आज सदन में हंगामा हो सकता है|

प्रधानमंत्री मोदी के रात्रिभोज में नहीं पहुंचे सोनिया, राहुल व अखिलेश

बता दें कि पिछली बार जब बिल राज्य सभा में पेश किया गया था तो कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी दल इसे प्रवर समिति के पास भेजने के प्रयास किया था | वे राज्यसभा में बिल ( Triple Talak Bill In Rajya Sabha ) को पास नहीं होने देंगे, इस उद्देश्य के साथ प्रदर्शन कर रहे थे | दरअसल, राज्यसभा में सरकार के पास संख्याबल नहीं था | उसके पास अब केवल दो विकल्प थे | एक वे अन्नाद्रमुक, बीजद जैसे अपने मित्र दलों को विधेयक के लिए मना लें|

अन्नाद्रमुक के 13 तथा बीजद के नौ सदस्य राज्यसभा में थे | ये दो दल यदि सरकार के पक्ष में आ जाएं या अनुपस्थित हो जाएं तो विधेयक को पारित करना संभव हो सकता था और दूसरा यह कि विधेयक पर विपक्ष की बात मान लें और संयुक्त प्रवर समिति को भेज दें| लेकिन बाद में सदन का कार्यकाल ही ख़त्म हो गया था |

पाकिस्तान के सबसे भारी व्यक्ति को इलाज के लिए दीवार तोड़कर निकाला बाहर

Share.