अब विश्वविद्यालयों में भी तबादले !

2

मध्यप्रदेश में नई सरकार बनने के बाद से ही उठापटक शुरू हो चुकी है| मंत्री से लेकर सरकारी अफसरों तक कई लोगों के तबादले किए जा रहे हैं| भोपाल और जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर के रजिस्ट्रारों के तबादले के बाद अब यह प्रक्रिया और तेज़ हो गई है|

जानकारी के अनुसार, विश्वविद्यालयों पर धारा-52 लगाकर कुलपतियों के तबादले किए जाएंगे| दरअसल, प्रदेश में कांग्रेस की नई सरकार भाजपा और संघ से जुड़े अधिकारियों के तबादले कर रही है| माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति और अटलबिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय के कुलपति का नाम सबसे आगे है|

माखनलाल चतुर्वेदी यूनिवर्सिटी में संघ और भाजपा से जुड़े कई कार्यक्रमों का अक्सर आयोजन करवाया जाता है| छात्र कल्याण संकाय के अध्यक्ष, एनएसएस विभाग और डीसीडीसी विभाग में फेरबदल किया जाएगा, जहां हमेशा राजनीतिक दखल के बाद ही नियुक्तियां की जाती है| भाजपा सरकार में ज्यादातर प्रतिनियुक्ति पर तैनात अफसरों को उनके मूल विभाग पहुंचा दिया गया था, लेकिन जो संघ से या भाजपा से जुड़े हुए थे, उनके स्थान पर परिवर्तन नहीं किया गया था| इनमें देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के एनएसएस विभाग के मुखिया प्रकाश गढ़वाल भी हैं और छात्र कल्याण संकाय के लक्ष्मीकांत त्रिपाठी भी शामिल हैं|

शिवराज की बदले की आग

किसानों पर फ़िदा कमलनाथ

Video : तारीफ-ए-काबिल ‘मामा

Share.