व्यापारिक संगठनों ने दिया हड़ताल को समर्थन, बाजार रहे बंद

0

देशव्यापी ट्रक ऑपरेटर्स की अनिश्चित हड़ताल को छठे दिन बस ऑपरेटर्स के साथ ही व्यापारिक संगठनों का समर्थन मिलने से हड़ताल का असर और बढ़  गया है| हड़ताली ट्रक ऑपरेटर्स के समर्थन में इंटर स्टेट बस ऑपरेटर्स के उतर आने से 600 वीडियो कोच बसों के पहिये थम गए, जिससे 10 हज़ार यात्री एक स्थान से दूसरे स्थान नहीं आ-जा सके| इसी तरह हड़ताल के समर्थन में इंदौर के 25 से अधिक व्यापारिक संगठनों के उतर आने से अनेक बाज़ार बंद रहे| हड़ताल के चलते ट्रक ऑपरेटर्स ने बस ऑपरेटर्स के साथ मिलकर गांधी प्रतिमा से एक रैली निकाली, जिसमें सभी ऑपरेटर्स ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की|

डीआईजी कार्यालय से निकले ऑपरेटर्स 

ट्रक ऑपरेटर्स रैली के पूर्व डीआईजी कार्यालय के परिसर में एक -एक कर एकत्रित हुए और आरएनटी मार्ग पर आते ही एक बड़ी भीड़ के रूप में नारेबाजी करते एमजी रोड पर आगे बढ़े| बड़ी संख्या में ट्रक ऑपरेटर्स के सड़क पर रैली के रूप में आने से एमजी रोड पर कुछ समय के लिए यातायात जाम होता रहा| ट्रांसपोर्टर्स की रैली नारेबाजी करती संभागायुक्त कार्यालय पहुंची, जहां ट्रक ऑपरेटर्स, बस ऑपरेटर्स और अन्य लोकल बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने सरकार के नाम ज्ञापन दिया|

आंदोलन हुआ तेज़ 

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के एमपी विंग के पदाधिकारी विजय कालरा ने बताया कि ट्रक ऑपरेटर्स की हड़ताल को इंदौर के सभी प्रमुख व्यापारिक संगठनों का समर्थन मिल गया है| प्रमुख बाजार एक दिन के लिए बंद रहे, जिसके बाद हड़ताल को बल मिला है| एसोसिएशन ने दावा किया है कि अब पहले की अपेक्षा हड़ताल मजबूती से आगे बढ़ेगी और सरकार जब तक मांग पूरी नहीं करती, तब तक वे अपनी हड़ताल को मजबूती देते चलेंगे| बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन के नासिरभाई का कहना है कि सरकार की जिन नीतियों से ट्रक ऑपरेटर्स परेशान हैं, उन्हीं दिक्कतों से बस ऑपरेटर्स भी जूझ रहे हैं| यदि सरकार मांगें नहीं मानती है तो वे भी हड़ताल में शामिल हो जाएंगे|

बंद का मिलाजुला असर 

एक दिवसीय बंद का बाजारों में मिलाजुला असर देखा गया| बाजार बंद होने से आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा| लोग ज़रूरी सामान की खरीदारी नहीं कर सके| हड़ताल के समर्थन में प्रमुख रूप से सियागंज, अनाज मंडी, लोहा मंडी, बारदाना, बर्तन बाजार, इंदौर हार्डवेयर, दवा बाजार, होजयरी एसोसिएशन, रेडिमेड सहित अनेक व्यापारी एसोसिएशन ने हिस्सा लिया| ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस घोषणा कर चुकी है कि मांगें पूरी नहीं होने तक हड़ताल जारी रहेगी|

Share.