ट्रंप के खिलाफ़ TikTok अदालत की दहलीज पर !

0

भारत में बैन किये गए चीनी शॉर्ट वीडियो एप टिकटॉक को अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने भी प्रतिबंधित कर दिया था अब इसके खिलाफ टिकटॉक और उसके अमेरिकी कर्मचारी ट्रंप प्रशासन को अदालत में घसीटने की तैयारी कर चुके है. कर्मचारियों के आंतरिक नीति वकील माइक गॉडविन ने कहा कि कर्मचारियों की ट्रंप के शासकीय आदेश को चुनौती एप का मालिकाना हक रखने वाली कंपनी के लंबित एक मुकदमे से अलग होगी.

TikTok: rise of video-sharing app tied to China and loathed by ...

 

दलील है कि आदेश असंवैधानिक है. ट्रंप ने पिछले हफ्ते व्यापक आदेश जारी किया था, जिसमें टिकटॉक और मैसेजिंग एप वीचैट के चीनी मालिकों के साथ सौदों पर अस्पष्ट पाबंदियां लगाई गई थीं और कहा गया था कि वे अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और अर्थव्यवस्था के लिए खतरा हैं. टिकटॉक से जुड़ा आदेश 15 सितंबर से प्रभाव में आएगा, लेकिन यह अभी साफ नहीं है कि एप के 10 करोड़ अमेरिकी यूजर्स के लिए इसका क्या अर्थ होगा, जिनमें से अधिकतर किशोरवय या युवा हैं और इसका इस्तेमाल वीडियो डालने और देखने के लिए करते हैं.

TSA and US military branches have banned TikTok app - Business Insider

गॉडविन ने कहा कि यह भी अस्पष्ट है कि क्या इससे टिकटॉक के लिए अमेरिका में अपने करीब 1500 कर्मचारियों को वेतन देना गैरकानूनी हो जाएगा, जिस वजह से कुछ कर्मचारी मदद के लिए उनके पास आए हैं. यह आदेश टिकटॉक और उसकी चीनी मूल कंपनी बाइटडांस के साथ किसी व्यक्ति द्वारा किसी भी तरह के लेन-देन को प्रतिबंधित करेगा. गॉडविन ने कहा कि कर्मचारी इस बात को सही से समझ रहे हैं कि उनकी नौकरियां खतरे में हैं और उनका वेतन अभी खतरे में है. टिकटॉक ने पिछले सप्ताह एक बयान में कहा था कि वह हालिया शासकीय आदेश से स्तब्ध है जिसे बिना किसी उचित प्रक्रिया के जारी किया गया.

Share.