भारत में 59 चीनी ऐप्स बैन, टिकटॉक की पहली प्रतिक्रिया

0

भारत सरकार ने चीन के खिलाड़ सख्त कदम उठाते हुए एक बड़ा फैसला लिया है जिसमे उसने 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया है. यह कदम सरकार ने भारत-चीन के बीच गलवान में हुई हिंसक झड़प के करीब 15 दिन बाद उठाया. सरकार के इस फैसले पर टिकटॉक इंडिया के हेड निखिल गांधी का बयान आया है जिसमे उन्होंने कहा है कि टिकटॉक भारतीय कानून के तहत डेटा प्राइवेसी और सिक्योरिटी रिक्वॉर्मेंट्स का पालन करता रहेगा. 

टिकटॉक: क्या सेलिब्रिटी जैसी पहचान ...

उन्होंने लिखा भारत सरकार ने टिकटॉक समेत 59 ऐप्स को ब्लॉक करने का अंतरिम ऑर्डर दिया है और हम इसका पालन करने की प्रक्रिया में हैं. हमें संबंधित सरकारी स्टेकहोल्डर्स को जवाब और सफाई देने के लिए मौका दिया गया है. टिकटॉक भारतीय कानून के तहत डेटा प्राइवेसी और सिक्योरिटी रिक्वॉर्मेंट्स का पालन करता रहेगा, और हमने भारत में अपने यूजर्स की जानकारी किसी विदेशी सरकार के साथ शेयर नहीं की है, चीनी सरकार के साथ भी नहीं. अगर हमसे भविष्य में कहा गया, तब भी हम ऐसा नहीं करेंगे. हमारी लिए सबसे अहम प्राइवेसी है.” निखिल गांधी, हेड, टिकटॉक इंडिया

Image

बता दे कि चाइनीज ऐप टिकटॉक के भारत में लाखों यूजर्स हैं. गांधी ने आगे कहा कि टिकटॉक ने ऐप को 14 भारतीय भाषाओं में ला कर सभी के लिए उपलब्ध कराया था. लाखों में यूजर्स, आर्टिस्ट, एजुकेट्रस और परफॉर्मर्स अपने रोजगार के लिए इस पर निर्भर थे, जिसमें से कई फर्स्ट टाइम इंटरनेट यूजर्स थे. वहीं, टिकटॉक की मालिक कंपनी, बाइटडांस ने रॉयटर्स को कहा कि वो भारत में 2,000 लोगों की टीम को यूजर्स के सुरक्षा मुद्दों से निपटने के लिए तैयार कर रहा है और ‘कुल मिलाकर भारत के प्रति अपनी कमिटमेंट’ दिखाने के लिए तैयार है.’

Share.