नौजवानों ने रोशन किया भारत का नाम

0

विभिन्न क्षेत्रों में बेहतरीन काम करने वाले 25 टॉप प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची टाइम मैगजीन ने जारी की है। साल 2018 की इस सूची में 3 भारतीय मूल के छात्रों का भी नाम शामिल है। इस सूची में काव्या कोप्पारापू, ऋषभ जैन और अमिका जॉर्ज का नाम शामिल किया गया है। टाइम मैगजीन के अनुसार, ये तीनों छात्र अपने काम की वजह से लाखों युवाओं के लिए प्रेरणा बन गए हैं।

गौरतलब है कि आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले 14 वर्षीय ऋषभ जैन ने संभावित रूप से पैंक्रिएटिक कैंसर का इलाज खोज निकाला है। ऋषभ ने एक ऐसा यंत्र विकसित किया है, जिससे पैंक्रिएटिक कैंसर के मरीजों के इलाज में मदद मिलेगी।

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली काव्या कोप्पारापू ने ब्रेन कैंसर के मरीजों के इलाज के लिए एक कंप्यूटर सिस्टम बनाया है। काव्या का उद्देश्य टारगेटेड थेरेपी विकसित करना है, जो संबंधित मरीजों के लिए अनोखी हो।

इन दोनों के अलावा ब्रिटेन में पढ़ने वाली भारतीय मूल की छात्रा अमिका जॉर्ज का लक्ष्य है कि पॉलिसी मेकर्स ‘माहवारी गरीबी’ खत्म करें। जॉर्ज ने टाइम मैगज़ीन से कहा, “यह चीज मुझे परेशान करती है। ब्रिटेन में कई लड़कियां नियमित रूप से माहवारी के दौरान स्कूल नहीं जाती हैं क्योंकि वे माहवारी पैड खरीदने में असमर्थ हैं।” इसके लिए जॉर्ज ने ‘फ्री पीरियड्स’ नाम से एक अभियान भी चलाया है, जिसे ब्रिटेन के दर्जनों नीति निर्माताओं का समर्थन भी प्राप्त हुआ है।

इस आसन से बढ़ाएं आत्मविश्वास

चश्मे से छुट्टी दिलाएं, यह 5 उपाय

सर्दियों में व्यायाम दूर रखेगा जुकाम

Share.