ये विदेशी मुस्लिम महिला भारत में चलाती है गोशाला, जानिए कारण

0

गो संरक्षण के नाम पर कई बार देश में हिंसा हो जाती है| देश में ही कई हिंदू गायों को सड़कों पर छोड़ देते हैं वहीं एक गुजराती मुस्लिम महिला ने मिसाल कायम कर दी| दरअसल, टेक्सास में रहने वाली एक मुस्लिम महिला मरजिया मूसा गुजरात में गोशाला चला रही है| यह महिला डेयरी क्रांति के लिए काम करती है| उसने इसके लिए पांच एकड़ जमीन खरीदकर यहां 22 गायें खरीदी और खुद खर्च करके गोशाला शुरू कर दी|

एक नॉन रेसिडेंट गुजराती मुस्लिम महिला के इस कार्य ने मिसाल कायम कर दी| यूएस में रहने वाली 49 वर्षीय मरजिया मूसा का सपना था कि वह अपने पैतृक गांव के लिए कुछ करे| बहुत समय बाद उसने डेयरी खोलने के बारे में सोचा और इस कार्य के बारे में जानकारी निकाली|

मरजिया मूसा ने 2016 में अपने पैतृक गांव में पांच एकड़ जमीन खरीदी और 22 गायें खरीदकर कार्य शुरू कर दिया| उन्होंने इसके लिए 2.50 करोड़ रुपए से अधिक खर्च भी किया| अब उनकी गोशाला में डच ऑरिजन की 120 होलिस्टन फ्रीजन गाय हैं|

मरजिया ने बताया, “टेक्सास में मैं होम फ्लिपिंग इंडस्ट्री के लिए काम कर रही थी| इस व्यवसाय में पुराने घरों की मरम्मत और उन्हें बेचने का काम होता है| कुछ समय बाद मुझे लगा कि मुझे अपने वतन के लिए कुछ करना चाहिए, इसलिए मैंने यह काम करना शुरू कर दिया| शुरू में मैंने अपने गांव में एक ऑटोमेटेड गोशाला बनाई| यहां पर तीन महिलाओं को दूध उत्पादन, गायों की देखरेख और दूध बेचने के लिए तैनात किया| कुछ समय पहले महाराष्ट्र से उनकी कुछ गायें गुजरात लाई जा रही थीं| रास्ते में कुछ गोरक्षकों ने उनका वाहन रोक लिया| उनके पास सूचना आई तो उन्होंने तुरंत पुलिस को फोन करके मदद मांगी| इस कार्य में कई समस्याओं का सामना करना पड़ा|”

बाढ़ से तबाह हुआ था पूरा फार्म – मरजिया मूसा

मूसा ने बताया कि गुजरात में वर्ष 2017 में आई बाढ़ के कारण एक गाय और बछड़ा बह गया था, तब पूरा फार्म तबाह हो गया था| इसके बाद स्थानीय लोगों ने उनकी बहुत मदद की और उन्होंने अपने फार्म को फिर से पूरी तरह ऑटोमेटेड कर लिया|

Share.