ये होंगे कांग्रेस के डिप्टी सीएम

0

मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव में अभी 5 महीने का समय बचा है। चुनावी माहौल में कांग्रेस-भाजपा दोनों पार्टियां सभी वर्गों को साधने की कोशिश में जुटी है। वहीं भाजपा में सीएम पद का चेहरा लगभग शिवराजसिंह चौहान हैं, वहीं कांग्रेस के सीएम पद के दावेदार का नाम सामने नहीं आया है, लेकिन कांग्रेस ने अपने उपमुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है।

35 सीटों पर नजर

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया ने बयान दिया है कि यदि मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो सुरेंद्र चौधरी डिप्टी सीएम बनेंगे। बावरिया कांग्रेस कार्यालय में आयोजित बौद्ध समाज से जुड़े लोगों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में 35 सीटों पर दलित निर्णायक भूमिका में हैं। उन्होंने कहा कि इनमें से जितनी सीटों पर आप कांग्रेस को जीत दिला सकते हो दिला दो क्योंकि कांग्रेस सरकार बनने पर पार्टी के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी भी उप मुख्यमंत्री बनाए जा सकते हैं।

कांग्रेस खेल सकता है दलित कार्ड

बता दे कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सुरेंद्र चौधरी को खुद कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है। बसपा के समर्थन न देने के बाद अब कांग्रेस दलित कार्ड का खेल सकती है क्योंकि प्रदेश में करीब 16 फीसदी वोटबैंक दलित वर्ग का है, वहीं 35 सीटें अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित हैं। कांग्रेस की नज़र इसी वोटबैंक पर है। कोई दूसरी पार्टी अपना दांव खेले, इससे पहले कांग्रेस अपना दांव खेलकर जीत हासिल करने की कोशिश करेगी।

भाजपा भी तैयार

जहां एक ओर उम्मीद थी कि मध्यप्रदेश में बसपा-कांग्रेस एक साथ चुनाव लड़ेंगे, लेकिन बसपा ने सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित 35 सीटों में से 29 सीटों पर अभी भाजपा काबिज़ है। भाजपा दलित वोटों को रिझाने के लिए पहले ही ग्राम स्वराज और समरसता अभियान शुरू कर चुकी है।

Share.