बापू के सपनों को साकार करने का समय

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर मध्यप्रदेश के मंडला जिले में 2.44 लाख पंचायतों को संबोधित किया| इस कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहे| इस दौरान पीएम और सीएम ने अपना भाषण दिया| प्रधानमंत्री मोदी ने पंचायतों में विभिन्न उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला सरपंचों को सम्मानित किया|

नर्मदा को प्रणाम करते हुए पीएम मोदी ने स्थानीय भाषा में अपना संबोधन शुरू किया और कहा,” यह महात्मा गांधी के सपनों को साकार करने का अवसर है| मां नर्मदा ने हमें जीवन, अन्न और समृद्धि दी है| मां नर्मदा को मैं बार-बार प्रणाम करता हूं| उन्होंने आगे कहा कि रानी दुर्गावती और रानी अवंतिबाई विदेशी शक्तियों से संघर्ष करती रहीं| विदेशी ताकतों के सामने नहीं झुकीं| जीना तो शान से, मरना तो संकल्प के साथ, ऐसी वीरों की धरती के लोगों के सामने शीश झुकाता हूं|”

उन्होंने कहा कि गांव के विकास और  सशक्तिकरण के साथ ही समस्याओं से मुक्ति दिलाने के लिए हम कंधे से कंधा मिलाकर साथ चलेंगे| सब मिलकर गांव के विकास से देश का विकास करेंगे| गांव का पानी यदि गांव में रह जाए, बारिश के हर बूंद का उपयोग हो तो यह पानी हमारे ही काम आएगा, हमें बारिश के पानी को बचाने के लिए प्रयास करना होगा|

पीएम मोदी के भाषण के दौरान लोगों ने ‘मोदी-मोदी’ के नारे भी लगाए| उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि जनता के सेवक होते हैं, न कि सरकार के सेवक| हमें अपना ध्यान, अपनी शक्ति जनता के कल्याण के कार्यों, उनकी सेवा के कार्यों में केंद्रित करनी चाहिए|

पीएम ने भाषण के पहले केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी जनता को संबोधित किया| सीएम शिवराजसिंह चौहान ने प्रधानमंत्री का अभिवादन किया और कहा कि पीएम मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता हैं| मंडला के रामनगर में पंचायत सम्मेलन का चयन प्रधानमंत्री मोदी के कहने पर हुआ है| उन्होंने ही कहा कि ये सम्मेलन आदिवासी भाई बहनों के बीच में होना चाहिए|

Share.