इस कारण नहीं मिला जयवर्धन को वित्त विभाग…

0

मुख्यमंत्री कमलनाथ के मंत्रियों के बीच विभाग का बंटवारा हो गया। अध्यक्ष राहुल गांधी के हस्तक्षेप के बाद सभी मंत्रियों को विभाग बांट दिए गए। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जनसंपर्क और तकनीकी शिक्षा सहित 10 विभाग अपने पास रखे हैं। वहीं पूर्व सीएम दिग्विजयसिंह के बेटे जयवर्द्धनसिंह को वित्त विभाग न देकर (Jaivardhan Singh Not Got Finance Ministry) नगरीय विकास की जिम्मेदारी दी गई।

वित्त विभाग (Jaivardhan Singh Not Got Finance Ministry) तरुण भनोट को दिया गया है। दिग्विजय अपने बेटे को वित्त विभाग दिलवाना चाहते थे। कुछ वरिष्ठ नेता इसके पक्ष में नहीं थे। इसको लेकर लंबी खींचतान चलती रही। मामला दिल्ली तक पहुंच गया। बड़े नेताओं का कहना था कि यदि वित्त विभाग जयवर्द्धन को दिया गया तो पर्दे के पीछे दिग्विजय होंगे और उनके बेटे का कद कई वरिष्ठ नेताओं से ज्यादा बढ़ जाएगा।

ऐसे में मामला (Jaivardhan Singh Not Got Finance Ministry) अध्यक्ष राहुल गांधी के पास पहुंच गया। उन्होंने अहमद पटेल को इसे सुलझाने को कहा। पटेल व अन्य वरिष्ठ नेताओं से बातचीत के बाद जयवर्द्धन को नगरीय विकास एवं आवास विभाग देने पर सहमति बनी। इसके बाद वित्त विभाग तरुण भनोट को दिया गया, जबकि पहले भनोट को नगरीय विकास दिया जाना तय हुआ था।

गौरतलब है कि बीते दिनों कमलनाथ ने कैबिनेट बैठक ली थी, जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने नवगठित कैबिनेट मंत्रियों को पाठ पढ़ाया था। जयवर्द्धन से वित्त विभाग हटने पर कमलनाथ के करीबी भनोट को सौंप दिया यानी वित्त की कमान मुख्यमंत्री कमलनाथ के पास ही रहेगी।

नाथ सरकार के निशाने पर जनअभियान परिषद

पटवारी को जल संसाधन तो शर्मा को स्कूल शिक्षा…

कमलनाथ का एक और बड़ा फैसला

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.