सिमी आतंकी अबू फैज़ल को उम्रकैद

0

मंदसौर की पिपलियामंडी में हुई बैंक डकैती में दोषी पाए गए सिमी आतंकी अबू फैज़ल और उसके साथी मोहम्मद इकरार और साजिद उर्फ शेरू को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई। गुरुवार को अपर जिला सत्र न्यायाधीश गिरीश दीक्षित ने सज़ा सुनाई। मामला मंदसौर के पीपल्यामंडी का है, जहां आरोपियों ने 1 जून 2010 को स्टेट बैंक ऑफ इंदौर की शाखा में दिनदहाड़े डकैती की थी।

इस मामले में चार अन्य आरोपी शेख मुजीब, जाकिर हुसैन, मोहम्मद असलम और मोहम्मद एजाजुद्दीन की मौत हो चुकी है। ये चारों आरोपी भोपाल केंद्रीय जेल ब्रेक के दौरान एनकाउंटर में मारे गए थे।

क्या था मामला

16 अक्टूबर को स्टेट बैंक ऑफ इंदौर की शाखा पिपलियामंडी जिला मंदसौर में अबू फैज़ल एवं अन्य आरोपियों ने मिलकर देशी कट्टा और चाकू की नोक पर बैंक के उपप्रबंधक और कर्मचारियों को डरा-धमकाकर उनके साथ मारपीट कर बैंक में डकैती डाली थी। आतंकियों ने बैंक कर्मचारियों से मारपीट कर बैंक में रखे 84 हजार रुपए के कटे-फटे नोट और 16 हजार 339 रुपए नकद लूट लिए थे। मामले में मंदसौर के पीपल्यामंडी थाने में डकैती, लूट, आर्म्स एक्ट और विधि विरुद्ध कार्यकलाप का अपराध कायम कर मामले का चालान अदालत में पेश किया था। मामले की सुनवाई भोपाल स्थित विशेष न्यायालय में की गई, जहां उन्हें सज़ा सुनाई गई।

Share.