भाजपा विधायक की पूजा से अपवित्र हुआ मंदिर

1

भारत अब तक रुढ़िवादी परम्पराओं के जाल में उलझा है। इसका ताजा उदाहरण देखने को मिला उत्तरप्रदेश के हमीरपुर में। प्राचीन देव स्थान में भाजपा की महिला विधायक मनीषा अनुरागी के जाने पर ग्रामीणों ने उसे अपवित्र माना| देवस्थान को पवित्र करने के लिए पूरे परिसर को गंगाजल से धोया गया और वहां स्थापित प्रतिमा को इलाहाबाद ले जाकर गंगा स्नान करवाया गया।

गंगाजल से किया पवित्र

मामला 12 जुलाई का है, जब राठ विधानसभा क्षेत्र की भाजपा विधायक मनीषा अनुरागी एक स्कूल के कार्यक्रम में शामिल होने आई थीं। इस दौरान उन्होंने आश्रम में पहुंचकर ध्रूम ऋषि के मंदिर में पूजा-अर्चना की थी। जब ग्रामीणों ने महिला विधायक को मंदिर प्रांगण में देखा तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पूरे आश्रम व मंदिर को गंगाजल से धोकर पवित्र किया गया। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने चंदा कर धूम्र ऋषि की प्रतिमा को इलाहाबाद ले जाकर स्नान करवाकर फिर से स्थापित किया।

महिलाओं का प्रवेश वर्जित

मान्यता है कि इस मंदिर में हर मुराद अवश्य पूरी होती है। आश्रम के अंदर महिलाओं का प्रवेश घोर वर्जित है, जिसके चलते महिलाएं बाहर से ही मन्नतें मांगती हैं। ग्रामीणों की माने तो यदि आश्रम में महिलाएं अंदर चली गईं तो धूम्र ऋषि के कोप भाजन बनना पड़ता है। वहीं मामले में विधायक मनीषा अनुरागी ने कहा कि उन्हें इस मान्यता के बारे में पता नहीं था। उन्होंने कहा कि उन्हें प्राचीन मंदिर के बारे में पता चला इसलिए पूजा-पाठ के लिए चली गई थी। उनके जाने के बाद मंदिर को गंगाजल से धुलवाकर पवित्र किया गया, ये उन्हें नहीं मालूम है।

यह खबर भी पढ़े – संघ-भाजपा का प्रस्ताव, निजता का मामला

यह खबर भी पढ़े – राम जानकी मंदिर से सोने का कलश चोरी

यह खबर भी पढ़े – SC : सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर.

Share.