तेलंगाना ऑनर किलिंग: पिता ने दी थी 1 करोड़ की सुपारी

0

तेलंगाना में हुए ऑनर किलिंग मामले में चौंकाने वाला खुलासा सामने आया हैं। पुलिस ने सुपारी किलर सुभाष शर्मा सहित 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें से असगर अली और अब्दुल बारी का नाम पहले एक मर्डर केस में आ चुका है। 2003 में गुजरात के तत्कालीन मंत्री हरेन पांड्या की हत्या के जुर्म में दोनों गिरफ्तार हुए थे, लेकिन उन्हें छोड़ दिया गया था। गौरतलब है कि ऊंची जाति की अमृता वर्षिणी से शादी करने वाले दलित ईसाई इंजीनियर पेरुमल प्रणय कुमार की 14 सितंबर को तेलंगाना के मिरयालगुडा में कुल्हाड़ी मारकर हत्या कर दी गई। 

नलगोंडा के पुलिस प्रमुख एवी रंगनाथ ने बताया कि अमृता ने पति की मौत के लिए पिता मारुति राव और चाचा श्रवण को जिम्मेदार ठहराया है। दोनों पर एक करोड़ रुपए की सुपारी देकर हत्या करवाने का आरोप है। हत्या के लिए मारुति राव ने 15 लाख रुपए हत्यारों को एडवांस भी दिए थे। बता दें कि मारुति हाल ही में तेलंगाना राष्ट्र समिति में शामिल हुए थे। जबकि अन्य आरोपी अब्दुल करीम कांग्रेस नेता है। अन्य आरोपी सुभाष शर्मा को पुलिस ने बिहार के समस्तीपुर से गिरफ्तार किया।

रंगनाथ ने कहा, मारुतिराव ने हत्या की साजिश के बारे में अपनी पत्नी को नहीं बताया था। उन्होंने अपनी पत्नी का इस्तेमाल प्रणय और अमृता की गतिविधियों के बारे में जानने के लिए किया था। अमृता के गर्भवती होने के बाद उसकी मां अक्सर उससे बात किया करती थी। अमृता ने बताया कि वह 14 सितंबर को चेकअप के लिए अस्पताल जाने वाली है। अमृता की मां ने इसकी जानकारी उसके पिता मारुति को दे दी। अमृता की मां को बिल्कुल एहसास नहीं था कि उनके पति इस तरह कुछ कर सकते हैं।

बता दें कि प्रणय 10वीं और अमृता 9वीं कक्षा में थी,तब से दोनों के बीच दोस्ती थी। दोनों ने साथ में ही बीटेक की पढ़ाई की। दोनों ने अपने परिवार वालों से शादी करने की इच्छा जताई, लेकिन अमृता के पिता मारुति राव ने इनकार कर दिया। इसके बाद 31 जनवरी 2018 को दोनों ने प्रेम विवाह कर लिया।

Share.