तेलंगाना में भंग होगी विधानसभा, समय से पहले हो सकते हैं चुनाव

0

तेलंगाना सरकार ने आज एक बड़ा फैसला लिया| पिछले कई दिनों से जारी अटकलों पर विराम लगाते हुए मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने तेलंगाना विधानसभा भंग करते हुए प्रस्ताव को पास कर दिया| इस प्रस्ताव पर सर्वसम्मति से मुहर लगाईं गई है| यह फैसला आने के बाद अब जल्दी चुनाव का रास्ता साफ हो गया है| 2 जून 2019 मौजूदा तेलंगाना विधानसभा का कार्यकाल था, जिसे अब भंग कर दिया गया है| कैबिनेट की बैठक के बाद सीएम के चन्द्र शेखर राव ने राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हा से मुलाकात की|

तेलंगाना विधानसभा भंग होने के फैसले के बाद अब राज्यपाल शासन लगाने की मांग की जा रही है| इसके पहले समय से पूर्व चुनाव करने के मुद्दे पर कांग्रेस नेताओं की टिप्पणी पर  के.चंद्रशेखर राव ने कहा था कि टीआरएस हमेशा चुनाव के लिए तैयार है| उन्होंने कहा था, “आमतौर पर सत्ताधारी पार्टी अपना कार्यकाल पूरा करना चाहती है| कोई नहीं चाहता कि वह समय से पहले चुनाव करा लें, लेकिन विपक्ष इस चीज के लिए ज्यादा बेसब्र रहता है और सत्ता में आई सरकार को हटाना चाहता है|”

गौरतलब है कि राज्य में समय से पहले चुनाव कराने की खबर कई दिनों से चल रही थी| इसके पहले मुख्यमंत्री और उनकी पार्टी के नेता कई बार इसके संकेत भी दे चुके थे| टीआरएस सरकार का कार्यकाल मई 2019 में खत्म होने वाला था जो अब खत्म हो गया |

केसीआर मिले थे पीएम से

इस मुद्दे पर केसीआर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृहमंत्री राजनाथ सिंह सहित अन्य नेताओं से मुलाक़ात की थी| इसके बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि राज्य में साल के अंत में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं, ऐसे में चुनाव के लिए तैयार रहें|

Share.