तेजप्रताप ने तेजस्वी को पत्र में लिखा ….

0

लोकसभा चुनाव ( lok sabha election) में करारी हार के बाद बिहार में आरजेडी (rjd) में तेजस्वी यादव (Tejaswi yadav) के इस्तीफे की मांग के बीच समीक्षा बैठक आज शुरू होगी | तेजस्वी यादव का साथ देने वालों में भाई तेज प्रताप (tej pratap yadav) भी शामिल है| इसी को लेकर तेज प्रताप ने एक पत्र में लिखा, हमने पहला लोकसभा चुनाव 2019 पिताजी लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की अनुपस्थिति में लड़ा|

पिताजी ने हमने आत्मसम्मान के साथ जीना सिखाया और अन्याय के विरुद्ध लड़ना सिखाया| लालू यादव ने कभी समझौता नहीं किया| इस पत्र में तेज प्रताप ने अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए टिकट नहीं देने पर सवाल करते हुए कहा कि जिन्होंने टिकट बांटे उन्हें इस हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए|

महाजन की सेवाओं का फल राष्ट्रपति पद !

तेज ने कहा मैंने केवल दो सीट शिवहर और जहानाबाद मांगी थी क्योंकि वहां की जनता की मांग स्थानीय उम्मीदवार की थी| मैंने बार-बार आपको इर्द-गिर्द के लोगों से सावधान रहने को बोलै | मैंने जो भी मांग की और पार्टी हित में सलाह दी- मेरी एक न सुनी गई| तेज प्रताप ने अपना समर्थन देते हुए तेजस्वी को लिखा- आपको ही नेता प्रतिपक्ष बने रहना है और जो लोग आपके इस्तीफे की बात कर रहे हैं मैं उनका पुरजोर विरोध करता हूं| मैं EVM हटाओ, देश बचाओ के लिए आंदोलन करने जा रहा हूं|

मैं कांग्रेस का पार्टी नेता बनने को तैयार हूं : शशि थरूर

ममता सरकार में अफरातफरी, गृह सचिव को…

इसके आगे तेज प्रताप ने 2020 के विधानसभा चुनाव में स्वच्छ और योग्य उम्मीदवारों को टिकट देने के लिए कहा| उन्होंने कहा कि बड़े भाई होने के नाते मेरी बात एवं सलाह सुनी जाए क्योंकि मैंने हमेशा पार्टी को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों के विरुद्ध और आपराधिक प्रवृति के लोगों से सतर्क रहते हुए पार्टी हित में आवाज उठाई है| बता दें की चुनाव के पहले से ही लालू के दोनों लाल के बीच तनातनी की खबरें आती रही है और दोनों कई जगहों पर इसे नकारते रहे है|लोकसभा चुनाव में भी तेज प्रताप ने लालू राबड़ी मोर्चा बना कर प्रदेश भर में सभाएं की थी और तेजस्वी को भितरघातियों से सावधान रहने की बात कहीं थी|

Share.