तालिबान के ‘समीउल हक’ की हत्या

1

तालिबान के गॉडफादर माने जाने वाले प्रमुख पाकिस्तानी धर्मगुरू मौलाना समीउल हक के मारे जाने की ख़बर है। पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, हक की हत्या रावलपिंडी में शुक्रवार को की गई। हक को पाकिस्तान में एक धार्मिक नेता के तौर पर जाना जाता है। वह सांसद भी रह चुका है। समीउल हक कट्टरपंथी राजनीतिक पार्टी जमात उलेमा-ए-इस्लाम-समी (जेयूआई-एस) का प्रमुख था।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने हत्या की जांच के आदेश दिए हैं। इमरान इस वक्त चीन के दौरे पर हैं। इमरान ने समीउल हक की मौत पर कहा कि उन्हें पाकिस्तान की सेवा के लिए हमेशा याद किया जाएगा। देश ने एक प्रमुख धार्मिक नेता खो दिया है।’

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, हक की हत्या रावलपिंडी स्थित उनके घर में की गई। इस बात की पुष्टि उनके परिवार और पार्टी के लोगों ने की है। परिजन का कहना है कि हमलावरों ने कई बार चाकू घोंपकर उनकी हत्या कर दी। हक के बेटे मौलाना हमीदुलहक ने बताया कि वह इस्लामाबाद में एक प्रदर्शन में हिस्सा लेने जा रहे थे, लेकिन रास्ते बंद होने के कारण वापस आ गए। जब वह अपने कमरे में आराम कर रहे थे, तब उनका ड्राइवर और गार्ड कुछ समय के लिए बाहर चले गए।

हमीदुल ने कहा कि जब ड्राइवर वापस लौटा तो उसने देखा कि मौलाना मर चुके और उनका शरीर और बिस्तर पूरी तरह खून से सना था। हक की पार्टी के नेता ने कबा कि, जिस समय मौलाना की हत्या हुई। उस समय घर पर कोई मौजूद नहीं था। हक की हत्या किसने की इस बारे में कुछ भी नहीं कहा जा सकता।

Share.