मोहर्रम के अशरा मुबारक की पहली वाअज़ में बोले सैयदना साहब

2

दाऊदी बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु सैयदना आलीकदर मुफद्दल मौला ने मोहर्रम के अशरा मुबारक की पहली वाअज़ बुधवार को सैफीनगर मस्जिद में फरमाई।  सैयदना साहब ने सुबह 11 से दोपहर  1:30 बजे तक वाअज़ फरमाई। वाअज़ के प्रारंभ में सैयदना साहेब के शहजादा सैयदी हुसैन भाई  ने कुरान शरीफ की तिलावत की। 

इस आयोजन में शामिल होने के लिए देश-विदेश से अब तक बड़ी संख्या में बोहरा समाज के लोग इंदौर में आए हैं। वाअज़ स्थल पर जाने के लिए सैफीनगर क्षेत्र के सभी झोनों के निर्धारित रास्तों पर सुबह सात बजे से लंबी कतारें नज़र आईं। इंदौर और देश-विदेश से बड़ी संख्या में इंदौर आए बुरहानी गार्डस के सदस्य व्यवस्था की कमान संभाले हुए थे। सैफीनगर मस्जिद, मस्जिद परिसर व आसपास के क्षेत्रों में हजारों की संख्या में समाजवासी उपस्थित थे।  वाअज़ स्थल पर सैयदना साहब के दीदार होते ही समाजवासी  मौला मुफद्दल मौला की सदाएं बुलंद कर रहे थे।

सैयदना साहब ने वाअज़ में फ़रमाया कि, हक व ईमान के रास्ते पर चलने से खुदा की रहमत व बरकत मिलती है। पानी हमेशा चूसकर धीरे पीएं, तीन सांस में पानी पीएं। पानी पीने से पहले बिस्मिल्लाह पढ़ें । पानी खुदा की नेमत है, इसकी कद्र कर पानी पीने के बाद खुदा का शुक्र भी अदा करें। नमाज़ अदब के साथ अदा करें। नमाज़ अदा करते वक्त सज़दा देने की जगह पर निगाह रखें । पैगंबर रसुलिल्लाह (स.स.) ने खाना खाने के अदब व सलीका इरशाद फरमाया है, इसका पालन करें, इससे सेहत दुरुस्त रहती है।

हमेशा आले मोहम्मद से मोहब्बत कर उनकी सीरत पर चलें। करबला में तीन दिन के भूखे-प्यासे शहीद हुए इमाम हुसैन पर सलावत पढ़ते रहें। सैयदना साहब ने 52वें धर्मगुरु डॉ.सैयदना मोहम्मद बुरहानुद्दीन मौला के नूरानी व दुआइया कलेमात की ज़िक्र फरमाई। सैयदना साहब ने फरमाया कि मोहर्रम की दो तारीख को इमाम हुसैन का काफिला करबला पहुंचा था। सैयदना साहब ने इमाम हुसैन की शहादत पढ़ी।

इस अवसर पर अश्क बार आंखों से या हुसैन की सदा के साथ पुरजोश मातम हुआ। सैफीनगर मस्जिद से सैयदना साहब की वाअज़ का सीधा ऑडियो-वीडियो प्रसारण बुरहानिया सैफिया मवाईद, एमएसबी स्कूल परिसर,  न्यू सैफीनगर मरकज़, बद्री बाग मरकज़, सियागंज, बोहरा बाखल, छावनी, नूरानी नगर, अम्मार नगर, गांधीनगर, मसाकिन सैफिया, हसनजी नगर, राऊ आदि स्थानों पर भी हुआ| यहां भी बड़ी संख्या में समाजवासी उपस्थित थे।

धर्मगुरु सैयदना को देख नम हो उठी बेताब निगाहें

इंदौर में बोहरा समाज के कार्यक्रमों में शामिल हो रहे धर्मगुरु

Video: इंदौर ने किया मौला का स्वागत, सफाई से हुए मोहित

Share.