Video : Sushma और Swaraj की Love Story याद करने लायक

0

वह  हरियाणा जो हमेशा  लिंगानुपात के लिए बदनाम रहा| इस राज्य में साल 1952 को वैलेंटाइन्स डे (Valentine Day) के दिन एक लड़की का जन्म हुआ, जो भारत के राजनीति का मुख्य अंग रहीं| किसी ने सोचा भी नहीं था कि भारत की आयरन लेडी सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) इस तरह से अचानक इस दुनिया को छोड़कर चली जाएंगी| भारत की पूर्व विदेश मंत्री और बीजेपी की दिग्गज नेता सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj Love Story) की जिन्होंने मंगलवार रात एम्स अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया | उन्होंने 67 साल की उम्र में अंतिम सांस ली|

Sushma Swaraj Love Story :

Sushma Swaraj Shradhanjali Whatsapp Status : इन संदेशों और फोटो से दें सुषमा स्वराज को श्रद्धांजलि

सुषमा स्वराज(Sushma Swaraj) जब लॉ की पढ़ाई कर रहीं थीं, तब उनकी मुलाकात स्वराज कौशल (Swaraj Kaushal) से हुई| दोनों की प्रेम कहानी (Sushma Swaraj Love Story) यहीं से शुरू हो गई थी|  सुषमा स्वराज ने लॉ की पढ़ाई  की है और वे सुप्रीम कोर्ट की वकील भी रह चुकी हैं| सुषमा ने उस समय   प्रेम विवाह किया जब हरियाणा में कोई लड़की प्रेम विवाह के बारे में सोच भी नहीं सकती थी|

Sushma Swaraj Funeral Live Updates : सुषमा स्वराज के निधन से शोक में डूबा देश

1975 में सुषमा स्वराज सोशलिस्ट नेता जॉर्ज फर्नांडिस की लीगल डिफेंस टीम का हिस्सा बन गईं, जिसमें स्वराज कौशल (Sushma Swaraj Love Story) भी थे| उन्होंने और स्वराज कौशल(Love Story Sushama swaraj) ने आपातकाल के दौरान जयप्रकाश नारायण के आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया| वहीं दोनों एक दूसरे के करीब आए दोनों में नजदीकियां बढ़ी और फिर दोनों ने शादी करने का फैसला ले  लिया|

उन्होंने शादी का फैसला तो ले लिया था, पर ये सब इतना आसान नहीं था| दोनों के परिवार वाले उनकी शादी के लिए मान नहीं रहे थे| दोनों ने अपने परिवार वालों को मनाने के लिए काफी मेहनत की| साल 1975 में 13 जुलाई को दोनों ने शादी कर ली और शादी के बाद सुषमा (Sushma Swaraj Love Story) ने अपने पति के नाम को ही सरनेम बना लिया|

मौत की कामना करने वाले को भी सुषमा ने कहा था ‘धन्यवाद’

 

Share.