अमरीका की लश्कर-ए-तैयबा के खिलाफ कार्रवाई से हम खुश : सुषमा स्वराज

1

भारत और अमरीका के बीट टू प्लस टू वार्ता गुरुवार को हुई। भारत की तरफ से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण शामिल हुईं। अमरीका की तरफ से विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो और रक्षामंत्री जेम्स मैटिस ने हिस्सा लिया। इस मौके पर सुषमा स्वराज ने कहा कि इस बातचीत से दोनों देशों के रिश्ते और मजबूत होंगे। उन्होंने कहा कि अमरीका की तरफ से लश्कर-ए-तैयबा के खिलाफ की गई कार्रवाई का हम स्वागत करते हैं।

भारत की रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत और अमरीका के बीच मंत्रिस्तरीय टू प्लस टू वार्ता की शुरुआत हमारे नेताओं के बीच मजबूत रिश्तों की पहचान है। यह बैठक हमारे संबंधों को विकसित करेगी। रक्षामंत्री सीतारमण ने कहा कि अमरीका के रक्षामंत्री जिम मैटिस के साथ बातचीत में रक्षा सहयोग से जुड़े मुद्दों पर बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि भारत-अमरीका की हर बैठक के बाद हमारे रक्षा क्षेत्र को और ताकत मिलती है। आज भारत अमरीका के साथ जितना रक्षा क्षेत्र में कर रहा है, उतना अन्य किसी देशों के साथ नहीं कर रहा। बात चाहे प्रशिक्षण की हो या संयुक्त अभ्यास की अमरीका और भारत के बीच रक्षा नीति को मजबूती मिली है।

अमरीका के रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने कहा कि हम भारत और अमरीका के बीच संबंधों को और मजबूत बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मैं केरल बाढ़ में मारे गए लोगों के प्रति दुख प्रकट करता हूं और अपनी जान जोखिम में डालने वाली भारतीय सेना की सराहना करता हूं। हम उन लोगों के साथ हैं, जिन्होंने अपने प्रियजन को खो दिया। भारत-अमरीका के संबंध रणनीतिक हितों पर आधारित है।

वहीं विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा, भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल अमरीका का दौरा किया था, जिसके बाद से भारत और अमरीका के बीच साझेदारी लगातार बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि हम भारत की समान प्रतिबद्धता का स्वागत करते हैं। दोनों राष्ट्र लोकतंत्र, व्यक्तिगत अधिकार और स्वतंत्रता के प्रति एकजुट हैं।

क्या है टू प्लस टू (2+2) वार्ता ?

जब दो देशों के दो-दो मंत्रिस्तीय वार्ता में शामिल होते हैं तो इसे विदेश नीति के संबंध में 2+2 वार्ता कहा जाता है। सामान्य तौर पर 2+2 वार्ता में दोनों देशों की तरफ से उनके विदेश और रक्षामंत्री हिस्सा लेते हैं। भारत और जापान के बीच भी 2010 में इस तरह की वार्ता हो चुकी है।

Share.