इस दिग्गज को किया सोनिया ने फ़ोन !

0

लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (rahul gandhi) ने अपने पद से इस्तीफे की पेशकश की और इस पर आमादा रहे | उन्हें मनाने की तमाम कोशिशे जारी है| कई राज्यों की इकाईयों से दिल्ली इस्तीफे आये |

इन सबके बीच खबर है कि राहुल की जगह नए अध्यक्ष की तलाश लगभग ख़त्म हो गई है और सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र इकाई के नेता सुशील कुमार शिंदे (Sushil Kumar Shinde Next Congress President) कांग्रेस के नए अध्यक्ष बन सकते हैं| सूत्रों के अनुसार संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) की अध्यक्ष सोनिया गांधी (soniya gandhi) ने शिंदे को फोन किया| कहा जा रहा है कि संसद के सत्र के बाद कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाकर इसका औपचारिक ऐलान किया जाएगा|

मुंबई: विमान रनवे पर फिसला, बाल-बाल बचे सभी

सोनिया गांधी के करीबियों में सुशील कुमार शिंदे (Sushil Kumar Shinde Next Congress President)  का नाम बड़े अदब से लिया जाता रहा है| वे यूपीए शासनकाल में कई अहम पदों पर रह चुके हैं| जब महाराष्ट्र में उनके और विलासराव देशमुख के बीच मुख्यमंत्री बनने की होड़ शुरू हुई तो पार्टी ने उन्हें आंध्र प्रदेश का राज्यपाल बना दिया, लेकिन उन्होंने एक शब्द बोले बगैर यह पद ले लिया था|इसके बाद उन्हें कांग्रेस की सरकार में प्रमुख मंत्री पद दिए गए| उनको लेकर यह माना जाता है कि उन्होंने पार्टी के आदेशों के ऊपर कभी अपनी महत्कांक्षाओं को हावी नहीं होने दिया| उनकी छवि एक समपर्पित नेता की रही है|

सज्जन सिंह साबित हुए निर्दोष तो मैं छोड़ दूंगा राजनीति – आकाश

शिंदे (Sushil Kumar Shinde Next Congress President) का सफर –

पुलिस की नौकरी छोड़कर राजनीति में आये सुशील कुमार शिंदे ने विधानसभा चुनाव लड़ने से शुरुआत की |
पांच बार विधानसभा के सदस्य रह चुके शिंदे को साल 1992 में कांग्रेस ने राज्यसभा भेजा गया |
इसके बाद शिंदे ने साल 1999 में पहली बार लोकसभा चुनाव जीता और संसद पहुंच गए|
इससे पहले साल 2002 में परिस्थितियां ऐसी बनी थीं कि शिंदे को यूपीए ने उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बना दिया था |
एनडीए के प्रत्याशी भैरो सिंह शेखावत से वे चुनाव में हार गए |
मनमोहन सिंह सरकार में शिंदे को केंद्र में मंत्री बनाया गया|
वह साल 2009 से साल 2012 तक वे देश के ऊर्जा मंत्री थे|
यूपीए के दूसरे कार्यकाल में वह 31 जुलाई 2012 से 26 मई 2014 तक केंद्रीय गृहमंत्री थे|
इसके साथ ही शिंदे महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भी रह चुके हैं|

“जय श्री राम” की जगह सुनाई चौपाई

Share.