अब सरोगेट मां को भी मिलेगी मैटरनिटी लीव

0

पहले सरकारी नौकरी करने वाली महिला को मैटरनिटी लीव का लाभ दिया जाता था, लेकिन अब इसका लाभ सरोगेट मदर को भी दिया जाएगा| सरकारी कॉलेज और यूनिवर्सिटी में पढ़ाने वाली ऐसी महिला टीचर्स को भी अब मैटरनिटी लीव दी जाएगी| ऐसी महिला कर्मचारियों को 180 दिन का अवकाश मिलेगा| भारत सरकार ने विश्वविद्यालय व कॉलेज में टीचर्स अपॉइंटमेंट के मिनिमम क्वालिफिकेशन व अन्य एकेडमिक स्टॉफ के मानक तय कर यूजीसी रेगुलेशन-2018 जारी किया है|

यूजीसी रेगुलेशन-2018 में विभिन्न अवकाशों की श्रेणी में पहली बार सरोगेसी से मां बनने वाली महिलाओं को अवकाश देने का प्रावधान किया गया है|  इस मामले में केंद्रीय विद्यालय की एक टीचर ने दिल्ली हाईकोर्ट में पिटिशन दायर की थी| इसमें उन्होंने बताया था कि वह सरोगेसी के जरिये जुड़वां बच्चों की मां बनी हैं| लेकिन, उसे मातृत्व अवकाश इसलिए नहीं दिया जा रहा है क्योंकि, उसने अपनी कोख से बच्चों को जन्म नहीं दिया है|

इस मामले में कोर्ट ने 17 जुलाई 2015 को इस महिला टीचर को अवकाश देने का फैसला सुनाया था| कोर्ट के इस आदेश का पालन करने के लिए कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने 29 जनवरी 2018 को सभी विभागों को निर्देश जारी किए थे|

Share.