यहां बच्चे भी मनाएंगे ‘सर्जिकल स्ट्राइक डे’, जानिए

0

भारतीय जवानों ने सीमा पार बैठे आतंकियों का सफाया करने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक की थी| इसे अब दो साल हो चुके हैं| इस मौके पर पूरे देश में जगह-जगह ‘पराक्रम पर्व’ मनाया जा रहा है| इस पर्व की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के जोधपुर से की| अब सरकार ने आदेश दिया है कि  जम्मू-कश्मीर में निजी स्कूलों में भी ‘सर्जिकल स्ट्राइक डे’ मनाया जाएगा|

जश्न की तस्वीरें भी मंगवाई

दरअसल, जम्मू-कश्मीर सरकार ने शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया है कि 28 सितंबर से 30 सितंबर चलने वाले पर्व का जश्न स्कूलों में भी मनाया जाए| इसके लिए निजी स्कूलों में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करने और एक अक्टूबर तक जश्न की तस्वीरें और वीडियो विभाग को सूचना भेजने को कहा है|

इस बारे में बुधवार को शिक्षा विभाग के सचिव ने सभी स्कूलों में एक पत्र भेजा| इसमें सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने शुक्रवार को ‘सर्जिकल स्ट्राइक डे’ मनाने का निर्देश दिया है| पत्र में लिखा गया है कि गृह विभाग के प्रधान सचिव ने राज्यभर में 28 से 30 सितंबर के बीच विभिन्न स्तरों पर अलग-अलग गतिविधियों का आयोजन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है| इस सरकारी आदेश के बारे में अधिकारियों ने कहा, “स्कूल के बच्चों को पत्र लिखकर या कार्ड बनाकर सशस्त्र बलों के लिए अपना समर्थन देने को कहें, जिसे निकटतम सेना प्रतिष्ठान को संबोधित किया जाए|”

गौरतलब है कि वर्ष 2016 में 28 से 30 सितंबर के बीच सर्जिकल स्ट्राइक की गई थी| भारतीय सेना ने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देते हुए 7 आतंकी शिविरों को ध्वस्त कर दिया था,  साथ ही 38 आतंकियों को भी मार गिराया था| इसके बारे में ‘डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस’ लेफ्टिनेंट जनरल रनवीरसिंह ने प्रेस कॉंन्फ्रेंस करके जानकारी दी थी कि भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक कर एलओसी के पार आतंकी ठिकानों को ध्वस्त कर दिया| कुछ समय पहले इसके वीडियो भी जारी हुए हैं|

एक और सर्जिकल स्ट्राइक करने के सवाल पर यह बोले सेनाध्यक्ष

पाक में सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान कमांडो की यह चाल कारगर साबित  

सैनिकों की मौत का बदला लेने के लिए की थी सर्जिकल स्ट्राइक- सुहाग

Share.