विधायक को क्यों सोना पड़ा श्मशान में..

0

यदि आपको एक रात श्मशान में गुजरने के लिए कहा जाए तो आपकी क्या प्रतिक्रिया होगी निश्चित ही भय आपको घेर लेगा, परंतु एक नेता को श्मशान में रात गुजारना पड़ी| आखिर क्या कारण था ?

दरअसल, देश में भले ही भ्रष्टाचार बढ़ गया हो,  नेताओं के वादों से यकीन उठ गया हो, लेकिन आज भी कई नेता ऐसे हैं, जिन्होंने जनता के दिल में यह आस जगा रखी है कि बदलाव जरूर होगा, समस्याओं का निराकरण होगा और सच में भी अच्छे दिन आएंगे| ऐसे नेता सिर्फ अपनी जेब भरने के लिए ही नहीं बल्कि जनता की भलाई के लिए मसीहा बनते हैं|

ऐसे ही एक नेता ने लोगों के लिए पूरी रात न सिर्फ एक श्मशान में गुजारी बल्कि वहां खाना भी खाया|  आंध्रप्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले की पालाकोल विधानसभा में टीडीपी के विधायक निम्माला रामानायडु अपने क्षेत्र में श्मशान के निर्माण को लेकर चिंतित थे इसलिए उन्होंने वहां तब तक समय गुज़ारा, जब तक निर्माण कार्य शुरू नहीं हो गया|

दरअसल,  यहां का श्मशान घाट काफी सालों से बुरी अवस्था में है| अंतिम क्रियाकर्म के लिए यहां कोई भी सुविधा नहीं है| कुछ मूलभूत सुविधाएं देने के लिए कई बार सरकार की ओर से राशि मंजूर की गई , लेकिन कभी काम शुरू नहीं हुआ| सरकारी कर्मचारी भूत होने का बहाना बनाकर काम नहीं करते थे| इसके बाद कर्मचारियों के मन से भूत का डर भगाने और निर्माण कार्य जल्द पूरा करवाने के लिए विधायक ने यह कदम उठाया| विधायक के ज़ज्बे को देखकर श्मशान का निर्माण कार्य शुरू हो गया|

Share.