पत्नी की उसके माता-पिता से चाहता है मुक्ति

0

ऐसे मामले अक्सर देखने को मिल जाते हैं कि पति द्वारा पत्नी को प्रताड़ित किया जाता है और उस युवती के माता-पिता अपनी बेटी को उसके पति के चंगुल से आज़ाद करवाते हैं| परंतु  इस बार इसके विपरीत मामला सामने आया है, जहां एक व्यक्ति ने अपने सास-ससुर पर अपनी पत्नी को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है और अपनी पत्नी को उसके माता-पिता से आज़ाद करवाने के लिए याचिका दायर की है|

दरअसल केरल के कोझिकोड जिले के एक मुसलमान युवक का प्रेम संबंध एक हिन्दू लड़की से हो गया था| करीब दो साल के प्रेम संबंध के बाद युवती ने इस्लाम स्वीकार कर लिया और दोनों निकाह करके साथ रहने लगे| अब उस युवक ने हाईकोर्ट में याचिका दायर करते हुए अपनी पत्नी को उसके माता-पिता  से मुक्त कराने का अनुरोध किया है|

युवक ने अपनी याचिका में कहा है कि उसकी पत्नी जन्म से हिन्दू थी, लेकिन उसने इस्लाम स्वीकार कर लिया| बाद में 28 मार्च से दो अप्रैल के बीच उसे शारिरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया तथा  29 मई को फोन पर धमकी देते हुए उसे अपनी पत्नी को भूलने के लिए कहा गया और ऐसा नहीं करने पर जान से मारने की धमकी दी गई|  उसका कहना है कि 5 जून को उसे दोबारा ऐसी ही धमकी मिली|

न्यायमूर्ति वी.चिताम्बरेश और न्यायमूर्ति केपी ज्योतिन्द्रनाथ की पीठ ने फैसल महमूद की ओर से दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई करते हुए बेंगलुरू में रहने वाले लड़की के पिता को नोटिस जारी किया|

Share.