Video : आर्मी कैंटीन में जब दाखिल हुआ गजराज और…

0

वैसे तो पागल हाथी के द्वारा उत्पात मचाए जाने की ख़बरें तो कई बार सुनी होगीं। कई बार गुस्सा आ जाने पर हाथी तांडव मचा देता है और काफी नुकसान कर देता है। वहीं हाल ही में पश्चिम बंगाल (West Bengal) से भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां एक हाथी सेना की कैंटीन(Elephant Walks Into Hasimara Army Canteen) में घुस गया। इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया है। यह हाथी हाशीमारा आर्मी कैंटीन (Hasimara Army canteen) में घुसा। यह कैंटीन दोरास (Dooars) इलाके में स्थित है। वहीं इस वीडियो को सोशल मीडिया पोस्ट करते ही यह तेजी से वायरल हो रही है।

इस वीडियो में दिखाई दे रहा है कि किस तरह हाथी हाशीमारा आर्मी कैंटीन (Hasimara Army canteen) में घुसता है। हालांकि जिस वक़्त हाथी कैंटीन में दाखिल होता है उस वक़्त कैंटीन में कोई भी नहीं था। इसके बाद हाथी पूरी मस्ती में सूंड हिलाते हुए कैंटीन में रखी टेबल कुर्सियों को गिराता है। इसके बाद धीरे-धीरे हाथी आगे बढ़ता है। हालांकि उस दौरान कैंटीन(Elephant Walks Into Hasimara Army Canteen) में मौजूद स्टाफ उससे बचने के लिए छिप गए। वहीं हाथी को कैंटीन से बाहर निकालने के लिए कैंटीन कर्मचारियों ने पहले तो गत्ते के टुकड़े में आग लगाकर हाथी को बहार निकालने का प्रयास किया लेकिन उनकी यह कोशिश नाकमयाब रही। इसके बाद कर्मचारियों ने एक लकड़ी पर कपड़ा लपेटकर उसमें आग लगाई और उसे मशाल जैसे बना लिया।

इस मशाल से हाथी को डराकर बाहर निकाला गया। कर्मचारियों की यह तरकीब काम आई और हाथी डर के कैंटीन(Elephant Walks Into Hasimara Army Canteen) से बाहर भाग गया। हालांकि कर्मचारी ने हाथी को कैंटीन से बाहर निकालने के बाद उसे दूर तक भगाया ताकि हाथी दोबारा कैंटीन में दाखिल न हो। गौरतलब है कि दोरास चाय के बगानों के लिए जाना जाता है। यह क्षेत्र पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर राज्यों की सीमा पर स्थित है। इस इलाके से कुछ ही दूर पर चिलापाता जंगल है। इस जंगल से अक्सर ही हाथी रिहायशी इलाके में आ जाते हैं। हाथियों का रिहायशी इलाकों में घुस आना समान्य बात है।

Prabhat Jain

Share.