Video : कानून की पढ़ाई करने वाली छात्रा को अब तक नहीं मिला न्याय

0

पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय (Pandit Ravi Shankar Shukla University) में स्टूडेंट्स (Video Anam Ali) के भविष्य के साथ हो रहे खिलवाड़ का मामला सामने आया है। एल. एल. बी. (LLB) की गोल्ड मेडलिस्ट स्टूडेंट (Gold Medalist student) की कॉपियों को बिना जांचे ही उसे फेल कर दिया गया। ‘अनम अली (Anam Ali)’ नाम की स्टूडेंट ने साल 2013 मे दुर्गा लॉ कॉलेज (Durga Law College) में LLB में एडमिशन लिया था। कॉलेज के 1st ईयर में उनको ‘हिन्दू लॉ (Hindu law)’ विषय में गोल्ड मैडल मिला था। बाद में तीसरे, चौथे, पांचवे सेमेस्टर में उनके नंबर अचानक कम आने लगे और छठवें सेमेस्टर में तो उसे फेल ही कर दिया गया। इसके बाद छात्रा ने रिवेलुएशन के लिए आवेदन दिया तो भी उसके नंबर नहीं बढे। वहीं जब छात्रा ने आंसर शीट की कॉपी के लिए आवेदन किया तो यूनिवर्सिटी की तरफ से उसे कहा गया कि पूरी यूनिवर्सिटी में सिर्फ एक ही छात्रा की कॉपी गायब हो गई है। यह बात अनम को हज़म नहीं हुई और उसने अपने वीडियो में इस बात का भी जिक्र किया है।

Delhi University Recruitment 2019 : सहायक प्रोफेसर के पदों पर भर्तियाँ

इसके बाद अनम (Video Anam Ali) ने सूचना अधिकार यानी RTI के तहत 2 विषयों की कॉपी की मांग की, लेकिन इन सबके पहले जब अनम के नंबर अचानक से कम होना शुरू हुए तो उसने इसके लिए विश्वविद्यालय के कुलपति (University Vice Chancellor), राज्यपाल और कांग्रेस पार्टी को टैग कर ट्वीट किया और अपनी शिकायत दर्ज करवाई। अनम ने लगातार कई ट्वीट किए लेकिन इन पर किसी ने भी ध्यान नहीं दिया जिसका नतीजा यह निकला की उसे छठें सेमेस्टर में फेल कर दिया गया। वहीं जब RTI से अनम अंसार शीट मिली तो उसे देख अनम के होश उड़ गए, क्योंकि उसकी आंसर शीट को जांचे बिना यानी कि चेक किए बिना ही उसे फेल कर दिया गया था। अनम को यह आंसर शीट पूरे 3 साल के बाद मिली। इन तीन सालों में अनम ने ना जाने कितनी ही बार ट्वीट किए, कुलपति से गुहार लगाई, कितने लोगों से मुलाक़ात की और सोशल मीडिया पर भी ट्वीट के माध्यम से लगातार अपील करती रही।

Goa University Recruitment 2019: इंटरव्यू के आधार पर भर्तियाँ

बालोद निवासी लॉ की छात्रा अनम (Video Anam Ali) ने राज्यपाल से लेकर तत्कालीन शिक्षा मंत्री तक से गुहार लगाई थी लेकिन जब इस मामले में उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई तो मजबूरन उन्होंने बुढातालाब पर सांकेतिक रूप से धरना दिया था। कांग्रेस छत्तीसगढ़ (Congress Chhattisgarh) के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी (Former Chief Minister Ajit Jogi)को जब इसकी जानकारी मिली तो वे भी तत्काल अनम से मिलने और उसका साथ देने जा पहुंचे। जोगी ने छात्रा से बातचीत की और न्याय की इस लड़ाई में उसका साथ देने का भरोसा दिलाया। जोगी ने विश्वविद्यालय कुलसचिव गिरीश कांत पांडेय से फ़ोन पर बात भी की और तत्काल अनम अली की कॉपी जांच कर परिणाम सुधारने की बात कही। इस दौरान जोगी ने कहा, “इस तरह गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा के भविष्य से खिलवाड़ कर विश्वविद्यालय में मनमानी जारी रही तो प्रतिभावान छात्रों व युवा पीढ़ी का भविष्य अंधकारमय हो जाएगा।”

अनम (Video Anam Ali) को जोगी का साथ मिलने से थोड़ी उम्मीद जगी लेकिन इस धरने का भी कोई असर न होता देख आखिरकार अनम को सूबे के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह बघेल को टैग कर उनसे अपील करनी पड़ी। अनम कलेक्टर से इच्छा मृत्यु की गुहार भी लगा चुकी हैं लेकिन कलेक्टर ने उन्हें समझाया और न्याय की लड़ाई के लिए प्रेरित किया। इसके बाद से अनम लगातार ट्वीट कर रही हैं और अपने हर ट्वीट में वे सभी को टैग भी करती हैं। अनम ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chief Minister Bhupesh Baghel) से अपील की है कि वे उसके दोनों वीडियो देखें जो उसने उन्हें टैग किए हैं और इसके बाद वे अनम से मुलाक़ात करें।

Delhi University Recruitment 2019 : असिस्टेंट प्रोफेसर के कई पदों पर भर्तियाँ

Share.