Video : UP के स्कूल में अंग्रेजी की शिक्षक ही नहीं पढ़ सकी अंग्रेजी फिर…

0

उत्तर प्रदेश में बच्चों को शिक्षा देने वाले टीचर जब खुद ही अनपढ़ हो तो फिर भला बच्चों का भविष्य कौन संवारेगा? जब शिक्षा देने वाला ही अशिक्षित हो तो फिर भला बच्चों को कैसे शिक्षित किया जा सकता है? यूपी की शिक्षा के गिरते स्तर को बताने वाली ऐसी ही एक घटना प्रकाश में आई है। दरअसल उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में सिकंदरपुर सरोसी के एक स्कूल में पिछले दिनों अचानक ही डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (DM) देवेंद्र कुमार पांडेय चेकिंग करने जा पहुंचे। इस दौरान क्लास में उन्होंने बच्चों को इंग्लिश की किताब से इंग्लिश पढ़ने के लिए कहा। वहीं जब बच्चे इंग्लिश पढ़ने में अटकने लगे तब डीएम देवेंद्र ने इंग्लिश टीचर (English Teacher) से किताब में से एक पेराग्राफ पढ़ने के लिए कहा।

गौरतलब है कि डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट (DM) देवेंद्र कुमार पांडेय के कहने पर अंग्रेजी की शिक्षिका ने किताब में से इंग्लिश पढ़ना शुरू की लेकिन वे एक लाइन भी ठीक तरीके से नहीं पढ़ सकीं। इसके बाद डीएम पांडेय ने शिक्षिका को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश दे दिया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया गया है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किए जाने के बाद तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो पर सोशल मीडिया यूजर्स जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

बता दें कि डीएम ने कहा कि “महिला टीचर को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया जाना चाहिए। वह एक इंग्लिश टीचर है, इसके बाद भी वह एक लाइन इंग्लिश में नहीं पढ़ सकतीं।” जब अंग्रेजी की टीचर डीएम के सामने अंग्रेजी की एक लाइन भी ठीक से नहीं पढ़ सकीं तो इस बात से DM काफी खफा हो गए। इसके बाद उन्होंने तत्काल ही शिक्षिका को निलंबित करने का आदेश दिया जिस पर महिला शिक्षक ने सफाई देने की कोशिश की। इस पर डीएम ने कहा, “ये क्या है, आप बीए पास हैं, क्या नहीं हैं? मैंने आपसे बुक से ट्रांसलेट करने के लिए नहीं कहा, मैंने किताब से कुछ लाइन आपसे पढ़ने के लिए कहा और आप ऐसा भी नहीं कर सकीं।” यह पूरा मामला शुक्रवार का है जब अचानक ही डीएम चेकिंग के लिए सिकंदरपुर सरोसी के एक स्कूल पहुंच गए थे। अब DM द्वारा रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Prabhat Jain

Share.