फंदे पर लटके पत्रकार, सीएम ने जताया दुःख

0

पत्रकारों को अपने विचार और सच्चाई को दुनिया के सामने प्रदर्शित करने की आज़ादी होती है, लेकिन आजकल पत्रकारिता मुश्किल दौर से गुजर रही है| तनाव और दबाव में काम कर रहे पत्रकारों की परेशानियां लगातार बढ़ रही हैं| ऐसे ही तनाव में आकर दो युवा पत्रकारों ने आत्महत्या कर ली|

छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर में हिन्दी न्यूज चैनल के पत्रकार शैलेन्द्र विश्वकर्मा और राजस्थान पत्रिका समूह के अखबार ‘पत्रिका’ की पत्रकार रेणु अवस्थी ने फंदे पर लटककर ख़ुदकुशी कर ली| 12 घंटे में अलग-अलग जगहों पर हुई दो पत्रकारों की मौत ने मीडिया जगत को स्तब्ध कर दिया है| दोनों पत्रकारों ने आत्महत्या क्यों की, इसके कारणों का खुलासा नहीं हुआ है|

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, शैलेंद्र ने सुबह के वक्त फांसी पर झूलकर आत्महत्या कर ली तो रेणु ने दोपहर बाद करीब 2 बजे खुदकुशी कर ली| आत्महत्या करने से पहले शैलेन्द्र में फेसबुक पोस्ट किया था, रेणु ने सुसाइड से पहले रायपुर स्थित पत्रिका समूह के स्टेट हेडक्वार्टर में फोन किया था| फिलहाल पुलिस दोनों मामलों की जांच में जुटी हुई है| दोनों पत्रकारों की मौत पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने दुःख जताया है|

Share.