पानवाले ने दिया यह बयान

0

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब  अपने द्वारा दिए गए विवादित बयानों के कारण पिछले कई दिनों से ख़बरों में बने हुए हैं| अभी वे अपने पुराने विवादों से बाहर भी नहीं आ पाए हैं और उन्होंने फिर विवादित बयान दे दिया| सीएम को अब पानवालों ने जवाब दिया है|

बताया जा रहा है कि 28 अप्रैल को अगरतला में विश्व पशुपालन दिवस पर सीएम ने एक कार्यक्रम में कहा, “युवा कई वर्षों से राजनीतिक दलों के पीछे भाग रहे हैं ताकि उन्हें सरकारी नौकरी मिल सके| ऐसा कर वे अपनी जिंदगी का अहम समय बर्बाद कर रहे हैं| दलों के पीछे भागने से अच्छा होता यदि ये युवा पान की दुकान खोल लेते तो अभी तक उनका बैंक बैलेंस पांच लाख रुपए तक पहुंच चुका होता|”

उन्होंने सिविल परीक्षाओं के बारे में कहा था, “मैकेनिकल इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि वाले लोगों को सिविल सेवाओं का चयन नहीं करना चाहिए| सिविल इंजीनियरों के पास यह ज्ञान है क्योंकि जो लोग प्रशासन में हैं, उनको समाज का निर्माण करना है| पहले कला स्नातक सिविल सेवा परीक्षा में बैठते थे और अब मेडिकल और इंजीनियरिंग स्नातक सेवा में आ रहे हैं|”

इस बयान के बाद सीएम को आलोचनाएं झेलनी पड़ रही हैं| कुछ लोग उनका समर्थन भी कर रहे हैं| मुंबई  के मशहूर ‘मुच्छड़ पानवाला’ दुकान के मालिक भरत तिवारी ने बिप्लब देब का समर्थन किया| उन्होंने कहा, “हम 6 भाई है और सभी के दो-दो बच्चे हैं, अब सारे तो पढ़कर अधिकारी बन नहीं सकते| इतने बच्चों में से कुछ तो गड़बड़ निकलेंगे, जो ऐसा निकलेगा हम उसे पान की दुकान चलाने का कार्य सौंप देते हैं| यह भी रोजगार का एक अच्छा विकल्प है|”

Share.