चोर SDM साहब

0

उत्तरप्रदेश में फर्रुखाबाद की शहर कोतवाली क्षेत्र में एसडीएम (SDM) के घर हुई चोरी ने एसडीएम साहब को ही परेशानी में डाल दिया है। हालांकि एसडीएम के घर हुई चोरी का पर्दाफाश स्वाट टीम व पुलिस ने कर लिया है, लेकिन इस खुलासे ने एसडीएम साहब पर ही सवालिया निशान लगा दिए हैं। अब एसडीएम (SDM Brij Kishore Dubey ) साहब चोरी हुई भारी रकम को लेकर सवालों के कटघरे में आ खड़े हुए हैं।

Parliament Budget  Session LIVE : लोकसभा में हंगामा

दरअसल मामला फर्रुखाबाद की शहर कोतवाली क्षेत्र में रहने वाले एसडीएम ब्रिज किशोर दुबे (SDM Brij Kishore Dubey ) से जुड़ा हुआ है। ब्रिज किशोर दुबे क़ायमगंज में एसडीएम के पद पर कार्यरत रह चुके हैं और वर्तमान में वे जिले में अतिरिक्त एसडीएम के पद पर कार्यरत हैं। दरअसल एसडीएम ब्रिज किशोर दुबे के घर से हुई चोरी का खुलासा स्वाट टीम व पुलिस ने कर लिया है। एसडीएम के घर से हुई चोरी के मामले में एसडीएम ब्रिज किशोर दुबे (SDM Brij Kishore Dubey ) के निजी कार चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने दुबे के निजी कार चालाक के कब्जे से चोरी की गई रकम 47.30 लाख रुपए भी बरामद की है। चालाक के कब्जे से इतनी बड़ी रकम बरामद होने पर एसडीएम साहब खुद ही सवालों के कटघरे में आ गए हैं। इस चोरी का खुलासा होने पर सबसे बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि, कायमगंज में एक माह पहले एसडीएम के पद पर आसीन रहे दुबे, इतनी बड़ी रकम कहां से लाए? इस सवाल का जवाब तो खुद एसडीएम दुबे भी नहीं दे पा रहे हैं?

प्रियंका के बाद प्रियदर्शनी राजे की भी सियासत में एंट्री !

इस मामले में पुलिस कप्तान सन्तोष कुमार मिश्रा ने जानकारी दी कि, एसडीएम ब्रिज किशोर दुबे (SDM Brij Kishore Dubey ) एक माह पहले तक क़ायमगंज में एसडीएम के पद पर कार्यरत थे, और मौजूदा समय में वे जिले के अतिरिक्त एसडीएम के पद पर आसीन हैं। उन्होंने कहा कि, एसडीएम शहर कोतवाली के पांचालघाट स्थिति नारायण आश्रम के निजी आवास में रह रहे हैं। कप्तान मिश्रा ने बताया कि दो दिन पहले एसडीएम के कमरे का ताला तोड़ कर चोरी की गई थी, जिसकी रिपोर्ट उन्होंने शहर कोतवाली में दर्ज करवाई थी। इस मामले में कार्रवाई किए जाने पर स्वाट टीम ने एसडीएम के निजी वाहन चालाक को हिरासत में लिया। स्वाट टीम प्रभारी कुलदीप दीक्षित और शहर कोतवाल राजेश पाठक ने जब, गिरफ्तार किए गए कार चालाक आशीष अग्निहोत्री निवासी बघऊ जिला हाथरस से पूछताछ की, तब उसने चोरी की वारदात को कबूल कर लिया। इसके बाद पुलिस व स्वाट टीम ने चालक आशीष के कब्जे से 47.30 लाख रुपए बरामद किए, जो 2 हजार व पांच-पांच सौ के नोटों के बंडल में थे। अब एसडीएम के खिलाफ जांच की जा रही है।

(प्रभात)

CBI-बंगाल विवाद live : मोदी ने किया देश का सत्यानाश

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News
Share.