बुझ सकती है राजद की लालटेन

0

चारा घोटाले मामले में फंसे राजद प्रमुख लालूप्रसाद यादव एक बार फिर चुनाव आयोग के घेरे में हैं| चुनाव आयोग ने राष्ट्रीय जनता दल को नोटिस जारी किया है| अब लालू यादव पर एक और बड़ी मुसीबत आ सकती है| अब राजद की लालटेन बुझ सकती है|

दरअसल नोटिस में सवाल पूछा गया है कि क्यों न पार्टी पर चुनाव चिन्ह से जुड़े कानून के तहत कार्रवाई की जाए| राष्ट्रीय जनता दल ने वित्तीय वर्ष 2014-15 के आयकर रिटर्न की जानकारी अभी तक आयोग को नहीं दी है| इस बारे में आयोग पहले ही आरजेडी को रिमाइंडर भेज चुका है|

चुनाव आयोग ने वर्ष 2014-15 का हिसाब-किताब न देने पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को नोटिस जारी किया है| साथ ही 20 दिनों के भीतर इसका जवाब देने को कहा है| आयोग ने कहा है कि जवाब न मिलने पर पार्टी का चुनाव चिह्न रद्द किया जा सकता है| सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार प्रत्येक पार्टी को हर वित्तीय वर्ष के अगले साल 31 अक्टूबर तक वार्षिक लेखा परीक्षा की रिपोर्ट पेश करनी होती है, लेकिन राजद ने 31 अक्टूबर 2015 तक वर्ष 2014-15 के लिए अपनी रिपोर्ट नहीं पेश की| राष्ट्रीय जनता दल पर चुनाव चिन्ह को लेकर खतरा मंडरा रहा है|

Share.