पुलवामा अटैक की कहानी पढ़ेंगे बच्चे

0

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए सबसे बड़े आतंकी हमले में हमारे 44 जवान शहीद हो गए। शहीदों की शहादत को हर कोई सलाम कर रहा है और अपने-अपने तरीके से श्रद्धांजलि दे रहा है। पूरा देश शहीदों को नम आंखों से श्रद्धांजलि देने के साथ, सरकार से बदला लेना की गुहार लगा रहा है। वहीं राजस्थान सरकार ने शहीदों को श्रद्धांजलि देने और उन्हें हमेशा अपने दिलों में जिन्दा रखने के लिए, बच्चों की किताब में शहीदों की गौरव गाथाएं शामिल करने का फैसला किया है।

राजस्थान सरकार अब से बच्चों की किताब में, पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों की कहानी शामिल करेगी। इस तरह शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाएगी और उन्हें हमेशा अपने दिलों में जिन्दा रखा जा सकेगा। राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि, यह आतंकी हमला बेहद ही दुखद घटना है। उन्होंने आगे कहा कि, इस घटना को कोर्स में शामिल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस घटना को कोर्स में कैसे शामिल किया जाएगा और इसका स्वरुप क्या रहेगा, इस बारे में पाठ्यक्रम समिति को फैसला करना है।

उन्होंने कहा कि बच्चों को शहीदों की गौरव गाथाएं पढ़ाई जाएगीं ताकि वे उन्हें व उनके बलिदान को हमेशा याद रखें। शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस तरह शहीद जवान हमेशा हमारे दिलों में अमर रहेंगे और यही उनके लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी। उन्होंने कहा कि, आगामी शैक्षणिक सत्र में शहीदों की शौर्य गाथाएं पाठ्यक्रम में सम्मलित कर ली जाएगी। और इस बारे में पाठ्यक्रम समिति फैसला करेगी। वहीं उन्होंने कहा कि इन शौर्य गाथाओं को इस तरह से शामिल किया जाएगा ताकि बच्चों को प्रेरणा मिले, नई सीख मिले और वे अपनी सेना का सम्मान कर सकें। उन्होंने कहा इसके लिए कक्षा एक से आठ तक और कक्षा नौ से 12 तक तक के लिए बनाई गई दोनों समितियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

(प्रभात)

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.