राष्ट्रपति की बस्तर यात्रा में दिखा आदिवासी रंग

0

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इन दिनों अपने दो दिवसीय दौरे पर छत्तीसगढ़ के बस्तर में हैं। राष्ट्रपति की छत्तीसगढ़ यात्रा में आदिवासी रंग देखने को मिला। राष्ट्रपति ने दंतेवाड़ा पहुंचकर मुख्यमंत्री रमनसिंह के दंतेश्वरी मंदिर के दर्शन किये। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा में राष्ट्रपति ने एक आदिवासी महिला के ई-रिक्शे की सवारी की और हीरानार गांव जाकर वनवासी कल्याण आश्रम के बच्चों के साथ बैठकर दोपहर का भोजन किया। ई-रिक्शा चलानेवाली फूलमती भास्कर गांव टेकनार में मां भवानी महिला स्वसहायता समूह की सदस्य हैं। राष्ट्रपति ने आश्रम में कम्प्यूटर लैब स्थापना की भी घोषणा की।

राष्ट्रपति ने ई-रिक्शा चलाने वाली फूलमती से इस नए व्यवसाय के बारे में उसके अनुभव सुने। राष्ट्रपति इसके बाद जिला मुख्यालय दंतेवाड़ा के निकटवर्ती गांव हीरानार स्थित वनवासी कल्याण आश्रम के बच्चों के साथ बैठकर दोपहर का भोजन किया। उन्होंने भोजन शुरू करने के पहले बच्चों के साथ प्रार्थना भी की। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और आश्रम के बच्चों के साथ भोजन किया।

इस यात्रा के दौरान बस्तर पंथी रंग भी देखने को मिला। लोकगीत और पारम्परिक तरीके से बस्तर में महामहिम का स्वागत किया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शहर के शिक्षा परिसर में युवा बीपीओ केंद्र का उद्घाटन कर कर्मचारियों के साथ बातचीत भी की। राष्ट्रपति ने बुधवार की रात बस्तर के चित्रकोट इलाके के विश्राम गृह में ही गुजारी। कोविंद ने आज  ‘जगदलपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल’ का उद्घाटन कर जनसभा को संबोधित किया।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की 5 राज्यों में नए राज्यपाल की नियुक्ति  

देश के 14 वें राष्ट्रपति बने रामनाथ कोविंद

पहली वर्षगांठ आदिवासियों के बीच मनाएंगे राष्ट्रपति कोविंद

Share.