जल बंटवारे को लेकर सियासत तेज

0

लगभग 120 वर्ष पुराना कावेरी जल विवाद सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद भी नहीं सुलझ रहा है| आज से जल बंटवारे को लेकर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के.पलानीस्वामी और उपमुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम भूख हड़ताल पर बैठे हैं|

बताया जा रहा है कि इस विवाद को लेकर तमिलनाडु के गवर्नर बनवारीलाल पुरोहित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे और उनसे इस विवाद को समाप्त करने के लिए सलाह मांगेंगे| गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने कावेरी जल विवाद पर फैसला सुनाते हुए कहा था कि तमिलनाडु को दिए जाने वाले पानी को 192 टीएमसी से घटाकर 177.25 टीएमसी कर दिया जाएगा| इसके बाद तमिलनाडु ने कोर्ट के फैसले पर नाराजगी जताई थी| इसे लेकर तमिलनाडु के सांसद कई बार सदन में प्रदर्शन भी करते हैं|

दोनों राज्य चाहते हैं कि उन्हें ज्यादा जल आवंटन किया जाना चाहिए| इसके पहले ट्रिब्यूनल ने तमिलनाडु में 192 टीएमसी फीट (हजार मिलियन क्यूबिक फीट) को कर्नाटक द्वारा मेटटूर बांध में छोड़ने के आदेश दिए थे, जबकि कर्नाटक को 270 टीएमसी फीट, केरल को 30 टीएमसी आवंटित किया गया था और पुडुचेरी को 6 टीएमसी आवंटित किया गया था|

Share.