बिहार में नीतीश कैबिनेट ने लिया यह फैसला

0

देश में औरतों के खिलाफ बढ़ते अपराधों के बीच बिहार सरकार ने बड़ा फैसला लिया है| बिहार कैबिनेट ने पीड़ित प्रतिकर संशोधन स्कीम 2018 को स्वीकृति दे दी है| इसके तहत अब तेजाब हमले में पीड़िता और बलात्कार पीड़िता दोनों की मुआवजा राशि में भारी बढ़ोतरी की गई है| राज्य सरकार ने तेजाब पीड़ि‍ता को अब आजीवन 10 हजार रुपए प्रतिमाह मदद देने का भी फैसला किया है|

अभी तक बिहार में रेप और तेजाब हमले की पीड़िता को 3 लाख रुपए की मुआवजा राशि मिलती थी, जिसे बढ़ाकर अब 7 लाख रुपए कर दिया गया है| यह राशि दोनों मामलों में समान है| साथ ही यदि पीड़िता 14 साल से कम की हो तो मुआवजे की राशि को 50 प्रतिशत तक बढ़ाया जा सकता है|

मंगलवार को हुई बैठक में 4 एजेंडों पर मुहर लगी| बिहार कैबिनेट में जिन एजेंडों पर मुहर लगी, उसकी जानकारी देते हुए कैबिनेट के विशेष सचिव यूएन पांडेय में बताया कि बिहार में तेजाब पीड़िता का चेहरा अगर स्थायी रूप से विकृत हो गया हो या आंख का नुकसान हुआ हो तो ऐसी स्थिति में अधिकतम 10 हजार रुपया प्रति महीने आजीवन मुआवजा देने का निर्णय लिया गया है| देश में औरतों के साथ बढ़ती घटनाओं को देखते हुए नीतीश सरकार की यह एक अच्छी पहल है|

Share.