नवाब मलिक का UP के CM पर हमला

0

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर पूरे देश में बबाल मचा हुआ है और (Nawab Malik Targets Yogi Adityanath) जगह-जगह लोग इसे लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग़ (Shaheen Bagh) में पिछले 60 दिनों से भी ज्यादा समय से इसके खिलाफ आंदोलन चल रहा है। वहीं प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों की मौत पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) द्वारा दिए गए बयान पर NCP नेता महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने जमकर पलटवार किया है। नवाब मलिक (Nawab Malik) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की तुलना जनरल डायर से कर डाली। दरअसल नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA Protest) के विरोध को लेकर उत्तर प्रदेश में भी जमकर हंगामा हुआ था। कई स्थानों पर तोड़-फोड़ और आगजनी भी हुई थी। इस हिंसक प्रदर्शन के दौरान दंगाइयों ने गोली चलाई जो प्रदर्शनकारियों को ही लगी और उनकी मौत हो गई। प्रदर्शनकारियों की मौत पर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) ने बयान दिया था कि, “अगर कोई मरने के लिए आ ही रहा है (Nawab Malik Targets Yogi Adityanath) तो वो जिंदा कहां से हो जाएगा?” ये बयान उन्होंने दिसंबर 2019 में CAA के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई 22 लोगों की मौत पर दिया था। इतना ही नहीं उन्होंने आगे कहा था कि, “जिनकी मौत हुई है, वो प्रदर्शनकारियों की गोली से हुई है। अगर कोई सड़क पर लोगों को गोली मारने के इरादे से जाता है, तो या तो उसकी मौत होगी या पुलिसवाले की।”

Congress Bharat Bachao Rally Live : देश का बंटवारा हो जाएगा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP Chief Minister Yogi Adityanath) के इस बयान पर पलटवार करते हुए NCP (Nationalist Congress Party) के नेता नवाब मलिक (Nawab Malik Targets Yogi Adityanath) ने कहा कि, “जिस तरह से आदित्यनाथ जी ने कहा ‘मरने को आएंगे तो जिंदा कैसे जाएंगे’, उसे लोकतंत्र में कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने कहा था कि लोगों को विरोध करने का अधिकार है, इसके बावजूद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी की।” आगे वे बोले कि, “योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) जनरल डायर की तरह बर्ताव कर रहे हैं, इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।” उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA Protest) के खिलाफ काफी उग्र प्रदर्शन देखने को मिला था और प्रदर्शनकारियों ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया था और सार्वजनिक संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया था। सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने इस प्रदर्शन के बाद हिंसा करने वालों व सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश भी जारी किया था।

Congress Press Conference live video : दिनदहाड़े लोकतंत्र की हत्या

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर अब राजनैतिक पार्टियों के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है। (Nawab Malik Targets Yogi Adityanath) वहीं दूसरी तरफ राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग़ (Shaheen Bagh) में पिछले 60 दिनों से भी ज्यादा से CAA के खिलाफ प्रदर्शन जारी है और शाहीन बाग़ (Shaheen Bagh) सड़क को जाम कर रखा है। सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने इस विरोध प्रदर्शन के खिलाफ आदेश जारी कर कहा था कि देश में हर किसी को विरोध करने का अधिकार है लेकिन किसी के विरोध से अन्य किसी व्यक्ति को परेशानी नहीं होनी चाहिए। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने मध्यस्थता के लिए वार्ताकार नियुक्त किए। बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) की तरफ से नियुक्त किए गए वार्ताकार पैनल के दो सदस्यों, संजय हेगड़े (Sanjay Hegde) और साधना रामचंद्रन (Sadhana Ramachandran) ने शाहीन बाग़ (Shaheen Bagh) में प्रदर्शनकारियों से बातचीत की। अब जल्द ही इस मामले में फैसला आने की उम्मीद जताई जा रही है। वार्ताकार प्रदर्शनकारियों और सरकार के बीच मध्यस्थता कराने का प्रयत्न कर रहे हैं अब देखना है कि इस काम में कितना वक़्त लगता है और ये सड़क कब तक खुलती है ताकि यहां से आने-जाने वाले लोगों की समस्या हल हो सके।

Congress नेता ने Priyanka Gandhi के सामने पत्रकार को दी जान से मारने की धमकी

Prabhat Jain

Share.