मुस्लिम महिला ने रामायण का किया अनुवाद

0

देश में सभी आपस में धर्म के नाम पर लड़ रहे हैं| धर्म के नाम पर नेता भी सियासत करने से पीछे नहीं हटते हैं वहीं एक मुस्लिम महिला ने सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल पेश कर कट्टरपंथियों को करारा जवाब दिया है|

कानपुर के प्रेमनगर में रहने वाली डॉ.माही तलत सिद्दीकी नाम की महिला ने रामायण को उर्दू में लिखा है| इस कार्य को करने में उन्हें लगभग डेढ़ साल का समय लग गया, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी|

माही ने बताया कि लगभग दो वर्ष पहले कानपुर के शिवाला निवासी बद्रीनारायण तिवारी ने उन्हें रामायण दी थी| इसके बाद से ही उन्होंने तय कर लिया था कि वह रामायण का उर्दू में अनुवाद करेगी| सभी धर्मों के धार्मिक ग्रंथ की तरह रामायण भी एकता और भाईचारे का संदेश देती है|

Share.