पैसे निकालने बैंक जा पहुंची लाश

2

आज हम आपको एक ऐसे मामले के बारे में बताएंगे, जिसे पढ़कर आप के होश उड़ जाएंगे। क्या आप ने कभी सुना है कि कोई लाश अपने पैसे लेने के लिए बैंक चले जाए। जी हां, यह मामला है मुंबई के उल्हासनगर का। यहां एक परिवार अपने एक परिवार के सदस्य के मृत शरीऱ को लेकर पीएनबी बैंक की उल्हासनगर शाखा पहुंच गया। परिजन का कहना था कि मृत सदस्य के अकाउंट से पैसे निकालकर उन्हें दिए जाए। इससे पहले पैसे के लिए उन्हें काफी वक्त तक बैंक के चक्कर लगाने पड़े हैं।

बैंक ने दिया नियम का हवाला 

आपको बता दें कि खाताधारक गणेश कांबले को दिसंबर में लकवा की शिकायत होने के बाद से केईएम हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था। तब से ही उसके अभिभावक पैसे निकालने के लिए बैंक के चक्कर काट रहे थे। वे बैंक से अनुरोध कर रहे थे कि वे कांबले के अकाउंट में पड़े 25,000 रुपए उन्हें निकालकर दें। बैंक अधिकारी नियमों का हवाला देते हुए कहते रहे कि कांबले का व्यक्तिगत अकाउंट है और उसके बिना कोई उसके खाते के पैसे को हाथ नहीं लगा सकता है।

सबूत दिखाने पर बैंक नहीं माना

कांबले की बहन महानंदा यादव ने कहा कि उनके माता-पिता हर रोज भाई के लिए अस्पताल तक जाते रहे। इस बीच उन्हें बैंकों के भी चक्कर लगाने पड़ते थे। बैंक से वह लगातार गुजारिश कर रहे थे कि भाई के पैसे उन्हें दें, पर बैंक अधिकारी बोलते रहे कि खाताधारक के सिग्नेचर आवश्यक हैं।

किसी को नहीं दे सकते पैसे

उल्हासनगर के पीएनबी बैंक के ऑफिसर सोमनाथ सरोडे ने कहा कि हम खाताधारक के सिवाय और किसी को रूपए नहीं दे सकते हैं। मरीज की मौत के बाद बैंक ने उसकी नॉमिनी की सूची निकाली है और पैसा परिवार को दे दिया है।

Share.