विश्व को संघर्षविराम के लिए सुझाव

0

बिहार की रहने वाली अनम विश्व को अमन का संदेश दे रही है| उसने ऐसे कई संदेश दिए हैं, जो विश्व की शांति को बरकरार रखने के लिए आवश्यक है| हैदराबाद  की ‘द इंग्लिश एंड फॉरेन लैंग्वेज यूनिवर्सिटी’ से अंग्रेजी की शोधछात्रा अनम ने इज़राइल की 70वीं वर्षगांठ पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लिया|

बिहार के दरभंगा की रहने वाली अनम ने इज़राइल-फिलिस्तीन की समस्या से निपटने के लिए साहित्य और संवाद की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया| उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी द्वारा कही गई एक पंक्ति का उदाहरण दिया और कहा, ‘यू कैन चेंज योर हिस्ट्री नॉट ज्योग्राफी, यू कैन चेंज फ्रेंड्स नॉट नेवर्स’ अनम को इज़राइल के बेन्जुरियन विश्वविद्यालय द्वारा इज़राइल-फिलिस्तीन के गम्भीर मुद्दे पर बोलने की स्वीकृति मिली थी|

इस सम्मेलन में दुनिया के कई देशों से करीब 200 प्रतिनिधि शामिल हुए| ईद के अवसर पर दरभंगा लौटी अनम ने यात्रा की जानकारी परिवारवालों और मीडिया के साथ साझा की| अनम का शोधपत्र यहूदी लेखक सैंडी तोलान की 2006 में प्रकाशित बेस्ट सेलर बुक ‘इ लेमन ट्री’ पर आधारित है|

Share.