शोक में मारवाड़ राजघराना…

0

मारवाड़ राजघराने की राजमाता का सोमवार देर रात निधन हो गया| इसके बाद राजपरिवार में मातम पसर गया| 92 वर्षीय राजमाता और पूर्व सांसद कृष्णा कुमारी को रविवार को दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उन्हें सोमवार रात फिर से दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया|

जोधपुर की राजमाता की पार्थिव देह आमजन के दर्शनार्थ उम्मेद भवन पैलेस में रखी गई| कृष्णाकुमारी गुजरात के ध्रांगध्रा के राजघराने की राजकुमारी थीं| उनका विवाह मारवाड़ के पूर्व महाराजा हनवंतसिंह से हुआ था| उनकी तीन संतानें हैं, चंद्रेश कुमारी, शैलेश कुमारी और गजसिंह|

कृष्णाकुमारी जोधपुर की महिलाओं को बुलाकर उनसे शहर की हलचल, बदलाव और लोगों की खबर लेती थीं| उन्होंने पांच पीढ़ियां देखीं| वे हमेशा कहती थीं – ‘समय बदला,  संबंध नहीं’ पूरी जिंदगी सारे संबंधों को यूं निभाकर उन्होंने चरितार्थ भी किया |

उन्होंने लोकसभा का चुनाव भी लड़ा और सांसद बनीं| राजमाता ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान घूंघट प्रथा को हटाने की मुहिम भी छेड़ी। उन्होंने महिलाओं को परदे से बाहर आने के लिए भी प्रेरित किया| बेटियों की पढ़ाई के प्रति भी वे हमेशा जागरूक करती रहतीं थीं|

Share.