पत्नी थी ज़िंदा, हत्या के आरोप में जेल में पति

0

अक्सर पुलिस या सरकारी विभाग में कार्यरत अधिकारी और कर्मचारी कई मामलों में लापरवाही करते हैं| उनके द्वारा की गई लापरवाही का खामियाजा बेकसूर लोगों को भुगतना पड़ता है| ऐसे ही एक व्यक्ति को उसकी पत्नी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया, जबकि उसकी पत्नी ज़िन्दा है|

मामला महाराष्ट्र के नागपुर का है| यहां के रहने वाले दीपक को पुलिस ने पिछले वर्ष पत्नी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था| इसके बाद उसे अदालत ने नागपुर जेल भेज दिया| अचानक से यह सामने आया है कि दीपक की पत्नी की मौत नहीं हुई| यह बात सामने आने के बाद पुलिस ने उस पर लगे सारे चार्ज वापस ले लिए हैं। पुलिस का कहना है कि उसकी पत्नी ज़िन्दा है|

इस मामले के बारे में कांग्रेस कार्यकर्ता और एक्टिविस्ट उदय सिंह ने विपक्ष के नेता राधाकृष्ण को पत्र लिखा है| उन्होंने कहा है कि पुलिस ने इस मामले में लापरवाही की है| पुलिस ने चार्टशीट में भी ये बात लिखी थी कि दीपक ने अपना गुनाह मान लिया है, और अब जब उसकी पत्नी ज़िन्दा है तो इसका मलतब यह निकलकर आता है कि पुलिस ने दबाव में दीपक से गुनाह कबूल करवाया था|

दरअसल, पिछले वर्ष दीपक की पत्नी लापता हो गई थी, जिसके बाद पति ने बताया था कि झगड़े के बाद वह घर छोड़कर चली गई| इसके कुछ दिन बाद सतरापुर के बोंदरी गांव में एक महिला की सिरकटी लाश मिली, जिसका हुलिया दीपक की पत्नी जैसा ही था इसलिए पुलिस ने उसे दीपक की पत्नी मानकर दीपक को गिरफ्तार कर लिया| अब यह जानकारी सामने आई है कि उसकी पत्नी अपने किसी रिश्तेदार के घर रह रही थी| वह बाद में अपने घर भी लौटकर आ गई, जिस कारण अब दीपक पर लगाए सारे चार्ज वापस ले लिए गए हैं|

Share.