दूध आंदोलन का आज दूसरा दिन, यह है मांग

0

महाराष्ट्र में किसानों के हित में ‘स्वाभिमानी शेतकरी संगठन’ ने सोमवार से ‘महादूध आंदोलन’ की शुरुआत की| आज इस आंदोलन का दूसरा दिन है| इस संबंध में सांसद राजू शेट्टी की पार्टी ने सरकार से मांग की थी कि जब तक किसानों को दूध के उचित दाम नहीं मिलते, तब तक लोगों तक दूध नहीं पहुंचाया जाएगा |

किसानों को मिले दूध का सही दाम

सांसद राजू शेट्टी ने महादूध आंदोलन का ऐलान करते हुए कहा था, “15 जुलाई की रात से महाराष्ट्र में उनकी पार्टी के कार्यकर्ता आंदोलन शुरू करेंगे|” उनकी मांग है कि राज्य के 2.5 लाख दूध उत्पादक किसानों को दूध का उचित दाम मिले|

हिंसक हुआ आंदोलन

इस आंदोलन के पहले दिन स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के कार्यकर्ताओं ने जमकर उत्पात मचाया| उन्होंने राज्यभर में दूध ले जाने वाले टैंकर्स को रोककर आंदोलन में शामिल होने की मांग की और नागपुर अमरावती हाईवे पर दूध ले जा रहे एक टैंकर के टायर को आग के हवाले कर दिया|

राजू शेट्टी का कहना

महादूध आंदोलन का नेतृत्व कर रहे सांसद राजू शेट्टी का कहना है कि प्रति लीटर दूध की लागत 35 रुपए है और किसानों से दूध 14 से 18 रुपए में खरीदा जाता है| किसान की मेहनत का फायदा कोई और उठा रहा है इसलिए यह आंदोलन करना ज़रूरी हुआ|

सड़क पर बही दूध की नदियां

राज्य में सोमवार को राज्य के बुलढाणा, जालना, औरंगाबाद, पुणे, नासिक, कोल्हापुर, सांगली जिलों में दूध ले जा रहे ट्रक और टैंकर को रोककर दूध सड़क पर बहाया गया| जो इस आंदोलन का विरोध कर रहे थे, उनके वाहनों में आग लगा दी गई|

Share.