ज़िंदा रहते करवा रही थी तेरहवीं  फिर…

0

एक महिला ज़िंदा रहते ही अपनी तेरहवीं करवा रही थी, लेकिन इस दौरान ऐसा कुछ हुआ कि सच में भी अब उसकी तेरहवीं करवाना पड़ेगी| महिला के साथ-साथ अन्य पांच लोगों की भी मौत हो गई|

उत्तरप्रदेश के आजमगढ़ स्थित रानी की सराय थाना क्षेत्र में 85 वर्षीय रामताजी देवी जीवित रहते हुए अपनी तेरहवीं करवा रही थी| घर के पास वाले कमरे में खाना बनाया जा रहा था| इस दौरान गैस सिलेंडर में रिसाव से आग लग गई| आग लगने के बाद सभी महिलाएं पास के एक कमरे में भागकर चली गईं और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया|

आग की लपटें तेज हो गई और कमरे के आसपास फ़ैल गई, जिससे अंदर मौजूद रामताजी देवी, उनकी बहू 48 वर्षीय कविता के अलावा रिश्तेदार 55 वर्षीय तारादेवी, 44 वर्षीय अनिता और उनकी दो वर्षीय नातिन आराध्या और एक पांच वर्षीय बच्ची अंजलि की दम घुटने से मौत हो गई| मौके पर पहुंचे अग्निशमन दल के कर्मियों ने ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया| घटना में एक बच्ची गंभीर रूप से घायल है, जिसका वाराणसी में इलाज किया जा रहा है| छह लोगों की मौत की खबर सुनते ही वृद्ध महिला के 60 वर्षीय देवर की भी मौत हो गई|

Share.