बाल-बाल बची दो पायलटों की जान

0

भारतीय वायुसेना में शामिल होने का इंतज़ार कर रहा एक सुखोई विमान बुधवार सुबह नासिक के पास दुर्घटना का शिकार हो गया| इस घटना के दौरान दो पायलट बाल-बाल बच गए| विमान के जमीन पर गिरने से पहले दोनों पायलट सुरक्षित बाहर निकल गए थे| जानकारी के अनुसार, हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) का निर्माणाधीन बहुउद्देशीय सुखोई सु-30 एमकेआई लड़ाकू विमान नासिक से करीब 25 किलोमीटर दूर पिम्पलगांव बसवंत शहर के समीप वावी-ठुशी गांव के एक खेत में दुर्घटनाग्रस्त हुआ|

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि विमान सुबह 11 बजकर पांच मिनट पर दुर्घटनाग्रस्त हुआ और पिम्पलगांव पुलिस को 11 बजकर 15 मिनट पर सूचना मिली| पुलिस ने आगे बताया कि विमान ने नासिक के समीप एचएएल हवाईपट्टी से उड़ान भरी थी|

यह विमान रूस के सुखोई द्वारा विकसित किया गया है और एचएएल के लाइसेंस के तहत तैयार किया गया था| विमान के निर्माण में शामिल एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि आज जो सुखाई विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ है, वह इस साल एचएएल नासिक के एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चरिंग डिवीजन में बने अपने समूह का पहला विमान था| उन्होंने बताया कि इस विमान ने कई बार उड़ान भरी थी और यह भारतीय वायुसेना में शामिल होने वाला था|

Share.