website counter widget

पुलिस के बाद जज पर वकीलों का हमला

0

बाराबंकी – राजधानी दिल्ली के (Delhi) के तीस हजारी कोर्ट (Tees Hazari Court) में वकीलों (Lawyers) और पुलिस (Delhi Police) के बीच पार्किंग को लेकर हुई मारपीट की आग अब बाराबंकी (Barabanki) जिले तक पहुंच गई है। दरअसल पुलिस द्वारा पिटाई किए जाने के बाद बाराबंकी (Barabanki) जिले के वकील हड़ताल पर चले गए। हड़ताल कर रहे वकीलों ने शुक्रवार को एक (Judge) के साथ अभद्रता की और उनके साथ मारपीट की। दरअसल हड़ताल करने वाले वकील तीस हजारी कोर्ट में हुई घटना का विरोध कर रहे हैं। वहीं विरोध करने वाले वकीलों ने मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण जज संदीप जैन का अपने चैम्बर में जाने का विरोध किया। इसके बाद जज के साथ अभद्रता करते हुए वकीलों ने उनके साथ गली-गलौच भी की। इतना ही नहीं वकीलों ने जज के अर्दली और गनर के साथ भी हाथापाई की व कारबाईन छीनने का प्रयास किया।

वकीलों (Lawyers) द्वारा किए गए इस दुर्व्यवहार के बाद जज (Judge) ने वकीलों के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया। दरअसल वकील कोर्ट परिसर में हड़ताल कर रहे थे। हड़ताल कर रहे वकीलों ने जज को अपने चैंबर में जाने से रोका लेकिन जज ने वकीलों की बात मानाने से इंकार कर दिया। जब जज ने वकीलों की बात नहीं मानी और चैंबर में जाने की जिद करने लगे तो वकील जज के साथ अभद्रता पर उतर आए। इसके बाद वकीलों ने जज की कॉलर पकड़कर उनके साथ हाथापाई शुरू कर दी। जज के गनर और अर्दली ने जब बीच-बचाव किया तो वकीलों ने उनके साथ भी मारपीट की। इस पूरी वारदात के बाद मौके पर सीओ सिटी, एसडीएम और एआरटीओ पहुंच गए और मामले को काबू में किया। इसके बाद जज ने वकीलों के खिलाफ मुकदमा दायर दायर कर दिया।

संदीप जैन ने मुकदमा दर्ज करवाते हुए शिकायत की है कि वे अपने कार्यालय में बैठ कर कुछ जरूरी कार्य कर रहे थे और अपने आशुलिपिक से जरूरी आदेश लिखवा रहे थे। इस दौरान उनके कार्यालय में तकरीबन 40 से 50 वकील आ धमके। वकीलों ने आते ही उनकी कॉलर पकड़ ली और अभद्रता करने लगे। वकीलों ने जज से कहा कि आज हड़ताल है तो आज क्यों काम करवा रहे हो? वकीलों ने जज के साथ काम कर रहे आशुलिपिक, स्टाफ और गनर के साथ भी गाली-गलौच की। वहीं स्टाफ में से एक जब अपने मोबाइल से इस घटना का वीडियो बना रहा था तो वकीलों ने उसका मोबाइल भी छीन लिया। इस पूरी घटना का ब्यौरा देते हुए संदीप जैन ने पुलिस अधीक्षक को लिखित रूप से शिकायत दी और दोषी वकीलों के खिलाफ मुकदमा दायर करने की मांग की। इस मामले अपर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार शर्मा ने कहा कि जज संदीप की तहरीर पर वकीलों के खिलाफ अभद्रता करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने का मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। आगे की जांच की जा रही है।

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.